इंतजार करते-करते मौत आ गई पर नहीं मिल पाए गरीबों को उनके घर

लालकुआं: कभी कभी सरकारी योजनाएं धरातल में आने में इतना समय लगा देती है कि उसका लाभ पाने वाला व्यक्ति ही दुनिया को छोड़कर चला जाता है। ऐसा ही मामला लालकुआं में गरीबों के लिए बन रहे कमरों में दिखाई दे रहा है। पिछले 10 साल से नगर में गरीबों के लिए बन रहे सौ कमरे अभी भी पात्र व्यक्तियों को नही मिल पाए है। 10 वर्षो से कमरों की आस लगाए कई लोगों की मौत हो गई है तो कई शहर को ही छोड़ के चले गए। जबकि कइयों ने अपना घर बना लिया है।
बता दें कि वर्ष 2009 – 10 में नगर में आईएचएसडीपी योजना के तहत गरीबों के लिए सौ कमरों का निर्माण कार्य शुरू किया गया था। एक वर्ष योजना बंद होने के बाद फिर से निर्माण कार्य शुरू किया गया। जनप्रतिनिधियों को सरकारी मशीनरी की लापरवाही के साथ ही बजट के अभाव में कछुआ चाल से चल रहा निर्माण कार्य पिछले वर्ष पूरा हो गया। जिसके बाद नगर पंचायत ने सभी वार्डों के सौ पात्र व्यक्तियों का चयन कर लिया गया। लेकिन जिला प्रशासन व नगर पंचायत अभी तक गरीबों को कमरे उपलब्ध नही कर सका है। जिस कारण घर की आस लगाए गरीबों का सपना पूरा नहीं हो पाया है। नगर पंचायत अध्यक्ष लालचंद सिंह व अधिशासी अधिकारी राजू नबियाल का कहना है कि जल्द ही बोर्ड की बैठक के बाद कुछ औपचारिकता पूरी कर गरीबों को उनके घर बांट दिए जाएंगे।
बतादें कि वर्ष 2010 में निर्माण के समय नगर पंचायत द्वारा सौ जरूरतमंदों की सूची तैयार की गई थी। लेकिन कमरों को बनने में करीब 10 साल गुजर गए। इस अंतराल में चिन्हित किए गए लोगों में से कई लोगों की मौत हो गई तो कई दूसरे शहरों या गावों में चले गए। जबकि कई लोगों ने अपने घर बना लिए। जिसकारण पुरानी लिष्ट में मात्र 30 लोग ही बच पाए थे। जिसके बाद नगर पंचायत ने उसमें 70 पात्र व्याक्तियों को और जोड़ा गया है।

जिलाधिकारी से मिल चुका है शिष्टमंडल
लालकुआं: नगर में गरीबों के लिए बनाए गए सौ कमरों को आवंटित करने के लिए पर्याप्त औपचारिकताओं को पूरा करने की मांग को लेकर पिछले दिनों नगर पंचायत अध्यक्ष लालचंद सिंह के नेतृत्व में एक शिष्टमंडल जिलाधिकारी से मिला था। जिसमे शिष्टमंडल ने कहा कि कमरों के लिए ट्यूबल व ओवर हैड टैंक भी बना है। लेकिन जल संस्थान ने अभी तक ट्यूबल व ओवरहैड टैंक को अधिग्रहण नही किया है। जबकि नगर पंचायत ने जल संस्थान को पेयजल आपूर्ति करने के लिए सहमति पत्र दे दिया है।

नगर पंचायत के अधिकारियों को जल्द ही बोर्ड की बैठक बुलाकर कमरे आवंटित करने की दिशा में आवश्यक कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया है।
ऋिचा सिंह, एसडीएम लालकुआं

Ad