घर की जगह रिजॉर्ट में ही रहने लगा था पुलकित, अंकिता को बगल के रूम में करा लिया था शिफ्ट

अंकिता भंडारी. 19 साल की उम्र में जिसकी हत्या कर दी गई. अब अंकिता संस्कार भी किया जा चुका. मगर उत्तराखंड की बेटी की मौत से पहाड़ विचलित हो उठा है. सूबे की धामी सरकार ने आरोपियों के खिलाफ आनन-फानन में कार्रवाई भी की, फिर भी कहीं न कहीं लोगों को शक संदेह बना हुआ है.

न्याय लिए धरने-प्रदर्शन जारी हैं. साथ ही इस हत्याकांड से जुड़ी नई-नई कहानियों के सामने आने का सिलसिला जारी है. अंकिता के मर्डर केस की परतें उधेड़ने का काम उसके दोस्त पुष्प दीप के WhatsApp से हुआ. चैट में यह बात बात सामने आई है कि रिजॉर्ट मालिक और हत्या के मुख्य आरोपी पुलकित आर्य की गंदी नजर रिसेप्शनिस्ट अंकिता पर पहले से ही थी. उसने अंकिता को अपने बराबर वाले रूम में शिफ्ट करवा लिया था.

दरअसल, उत्तराखंड में दर्जाप्राप्त राज्यमंत्री रहे विनोद आर्य के छोटे बेटे पुलकित का घर हरिद्वार में है. लेकिन वह रिजॉर्ट में रहा करता था. अंकिता को उसने बतौर रिसेप्शनिस्ट रिजॉर्ट में नौकरी पर रखा था. अंकिता के अलावा वहां कोई महिला कर्मचारी नहीं थी. यही नहीं, गेस्ट भी बहुत ही कम आते थे. रूम खाली पड़े होते थे. रिजॉर्ट सिर्फ कभी कभार पार्टियों के लिए बुक किया जाता था.

‘फीमेल स्टाफ क्यों नहीं है?’

जब अंकिता पूछती थी कि यहां कोई फीमेल स्टाफ क्यों नहीं है? तो उसे जवाब मिलता था कि एक लड़की को चोरी करने के कारण नौकरी से निकाल दिया गया था. फिर लॉकडाउन लग गया था. अब धीरे-धीरे नया स्टाफ रखा जा रहा है.

अंकिता के करीब आने की कोशिश

इसी बीच, रिजॉर्ट मालिक पुलकित अपनी रिसेप्शनिसट अंकिता के करीब आने की कोशिश करने लगा. वह अंकिता को स्कूटी और कार ड्राइविंग सिखाने की भी कोशिश करने लगा. कहता था कि कई बार रिजॉर्ट में आने वाले मेहमानों को घुमाने ले जाना होता है, इसलिए कार चलानी आनी चाहिए.

‘कमरे में अकेली रही’

वॉट्सएप चैट से खुलासा हुआ कि एक बार पुलकित ने अंकिता से बहाना बनाकर कहा, रिजार्ट में ज्यादा गेस्ट आने वाले हैं और कमरे कम नहीं हैं, इसलिए तुम मेरे बराबर वाले कमरे में शिफ्ट हो जाओ. दरअसल, रिजॉर्ट में पुलकित जिस कमरे में रहता था वो दो कमरों का सेट था. मगर इंटरकनेक्टेड था. एक-दो दिन अंकिता उसके बगल वाले कमरे में अकेली रही.

‘सॉरी, मुझे माफ कर देना’

इसी दौरान पुलकित ने रात के समय अंकिता के रूम में बैठ कर शराब भी पी और फिर अंकिता को जबरन गले लगाने की कोशिश की. जब इसका विरोध किया गया तो पुलकित ने दूसरे दिन अंकिता से माफी भी मांगी और कहा, ”सॉरी, मुझे माफ कर देना. रात को मैं नशे में था.”

VIP मेहमानों को ‘स्पेशल सर्विस’

रिसेप्शनिस्ट अंकिता पर रिजॉर्ट में आने वाले VIP मेहमानों को ‘स्पेशल सर्विस’ देने का दबाव बनाया जा रहा था. इसकी पुष्टि WhatsApp चैट से हुई है. मैसेज में अंकिता ने अपने दोस्त को लिखा था, ”मैं गरीब हो सकती हूं, लेकिन 10 हजार रुपये के लिए खुद को बेचूंगी नहीं…”. उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार भी अपने बयान में अंकिता पर गलत काम के लिए दबाव की बात कह चुके हैं.

Ad