जाने हैकर्स क्यों पसंद करते हैं इंटरनेट के अंधेरी कोठरी डार्क वेब को,क्या है खतरा

आपने डार्क वेब और डीप वेब के बारे में बहुत कुछ सुना होगा आप सब यही सुनते होंगे कि यहां पर हैकर्स का अड्डा होता है जो अपना शिकार खोजती रहती हैं।यदि आप नहीं जानते कि डार्क और डीप वेब क्या होता हैं तो मैं आपको बता दूं कि इंटरनेट का मात्र 4 प्रतिशत हिस्सा ही आम लोगों के पहुंच में हैं इतना में ही हम अपना सारा काम करते हैं जैसे शॉपिंग,बैंकिंग, या भी मनोरंजन आम आदमी की सभी जरूरतें इन्हीं से पूरी हो जाती हैं और हम सोचते है कि इंटरनेट कितना बड़ा हैं।लेकिन आप शायद नहीं जानते कि इंटरनेट 96 प्रतिशत हिस्सा छुपा हुआ हैं यानी कि ये वेबसाइट किसी भी सर्च एंजन में शो नहीं करते हैं।ये हिस्सा दो भागों में बटा हैं पहला डीप वेब और दूसरा डार्क वेब तो एक एक करके समझते हैं।

credit: third party image reference1.डीप वेबइंटरनेट का यह हिस्सा सर्च इंजन पर शो नहीं होता क्युकी इनका उपयोग बड़ी बड़ी कंपनी,सरकार,और संस्थाएं यहां अपनी जानकारी जैसे कर्मचारी का ,अपना हिसाब किताब और वेबसाइट का डाटा आदि रखते हैं।इन वेबसाइट कंपनी के अधिकारी ही यूजर नेम और पासवर्ड के  माध्यम से ही इन वेबसाइट को एक्सेस कर सकते हैं।इंटरनेट का यह हिस्सा अवैध नहीं हैं और इससे सही उपयोग के लिए किया जाता है।
2.डार्क वेबइंटरनेट का वह हिस्सा जो सर्च इंजन पर शो नहीं होता और इसे किसी भी साधारण इंटरनेट ब्राउज़र द्वारा एक्सेस नहीं किया जा सकता इससे केवल टोर ब्राउज़र पर ही एक्सेस किया जाता है जिसे अमेरिका के सिक्योरिटी डिपार्टमेंट ने ग्रो किया हैं।इसका खोज सही काम के लिए हुआ था ताकि कोई सरकार से अपनी बात गुमनाम होकर रख सके।लेकिन यहां हैकर्स ने अपना अड्डा बना लिये क्युकी ये  गुमनाम होकर अपना काम कर सकें।ऐसे में जब कोई ग़लत काम करना होता है तो ये यही से करते हैं और ये किसी के नजर में नहीं आपाते है क्युकी टोर ब्राउज़र यूजर के आप एड्रेस को छुपा देता हैं।यह पर बहुत से इनलीगेल का होता हैं जैसे  किसी का सुपारी लेना,ड्रग्स,चर्स, ब्राउन शुगर ,हथियार का खरीद बिक्री होता है।सरकार इन सब को बंद करवाने के लिए बहुत प्रयास कर रही है लेकिन बंद नहीं करवा पा रही हैं।तो दोस्तो ये है डार्क वेब कि अंधेरी दुनिया मैं आप सब को यही राय दूंगा कि आप कभी भी इन वेबसाइट्स पर ना जाए क्युकी आम आदमी उनके जाल में आसानी फस सकता है आपका एक क्लिक होते आपकी सारा डाटा उनके पास चला जाएगा और आप सब को ब्लैकमेल भी कर सकते हैं।

Ad