पशुओं के लिए चारा लेने गई महिला पेड़ से गिरी, मौत

बागेश्वर: पूर्व सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत द्वारा बनाई गई घस्यारी योजना धरातल में नहीं उतर सकी है। महिला आज भी पशुओं के चारे के लिए जंगलों पर निर्भर है। जनपद में रविवार को पशुओं के लिए चारा लेने गई एक महिला पेड़ से गिर गई जिससे उसकी दर्दनाक मौत हो गई।
घटना जनपद के काफिले गैर तहसील के बोहला गांव की है। रविवार को यहां निवास करने वाले किशन सिंह की पत्नी लीला देवी 40 वर्ष महिलाओं के साथ जंगल में पशुओं के लिए चारा लेने गई थी। इस दौरान वह चारा काटने के लिए पेड़ में चल गई। सभी उसका पैर फिसलने से अचानक नियंत्रण बिगड़ गया और वह पेड़ से नीचे गिर गई। महिलाओं तत्काल गांव में सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंचे परिजनों द्वारा उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। जिससे उसके परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। महिला का एक बेटा और बेटी है। जबकि पति श्रीनगर में प्राइवेट जॉब करता है। पुलिस ने शव शव का पोस्टमार्टम करा कर परिजनों को सौंप दिया है। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने पर्वतीय क्षेत्रों में महिलाओं के लिए घस्यारी योजना बनाई थी। लेकिन पशुओं के लिए चारा नहीं मिलने के कारण आज भी महिलाओं को जंगलों पर ही निर्भर रहना पड़ रहा है।

Ad