युवक ने अपनी दोस्त युवती की हत्या के बाद लाश को कार के सीट कवर में लपेटकर 4 दिन तक रखा, इस तरह खुला राज

दिल्ली के बहुचर्चित श्रद्धा मर्डर केस की जांच अभी चल ही रही थी कि अब छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में एक ऐसी ही दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। जहां युवक ने अपनी दोस्त युवती की हत्या के बाद लाश को कार के सीट कवर में लपेटकर 4 दिन तक रखा। किसीको इसकी बदबू ना आए इसके लिए वो परफ्यूम और सेंटेड अगरबस्ती का उपयोग करता रहा। लेकिन जब सडांध ज्यादा आने लगी तो मामले का खुलासा हो गया। पुलिस ने शव बरामद करने के साथ ही आरोपी  गिरफ्तार कर लिया है। इसके अलावा मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

4 दिन से लड़की का नहीं था कोई पता…परिवार पहुंचा पुलिस के पास
दरअसल, पुलिस की शुरूआती जांच के अनुसार, मृतका लड़की की पहचान प्रियंका सिंह के रुप में हुई है। जो  दुर्ग-भिलाई की रहने वाली थी। वह फिलहाल पढ़ाई के चलते बिलासपुर के टिकरापारा स्थित हॉस्टल में रह रही थी। यहां वो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही थी। पिछले 4 दिन यानि 15 नवंबर से जब परिवार को उसके बारे में कोई खबर नहीं लगी तो वह डर गए। इसके बाद पिता बृजेश सिंह अपने बेटे हिमांशु के साथ  बिलासपुर के सिटी कोतवाली थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने मामले की तफ्तीश की।

शेयर मार्केट में घाटा होने पर कर दिया लड़की का मर्डर
बता दें कि प्रियंका पढ़ाई के साथ-साथ शेयर बाजार में भी पैसा लगाती थी। इसी सिलसिले में उसकी पहचान हत्यारे आशीष से हुई थी जो मेडिकल की दुकान चलाता था। दोनों शेयर मार्केट का काम साथ में करते थे। इसी बीच उन्हें शेयर मार्केट में घाटा होने लगा तो युवती उससे अपने पैसे मांगने के लिए पहुंची। छात्रा को उससे करीब 11 लाख रुपए लेने थे। मृतका आरोपी की दुकान पर पहुंचकर चिल्लाने लगी। इसके बाद उसने प्रियंका को दुकान के अंदर बुलाया और दुकान की शटर बंद कर दी। फिर दोनों के बीच विवाद होने लगा इसी दौरान आशीष ने गला घोंटकर उसे मार डाला।

लाश को ठिकाने लगाने की हिम्मत नहीं कर पाया आरोपी
आरोपी ने दुकान में हत्या के बाद लाश को ठिकाने लगाने के लिए योजना बनाई। इसके लिए पहले उसने शव को पॉलिथीन से पैक किया। फिर लाश को निकालकर कार में रखा। लेकिन उसकी शव फेंकने की हिम्मत नहीं हुई। इसके लिए चार दिन तक डेड बॉडी गाड़ी में रखी रही। फिर वह लाश को अपने घर ले आया और गैराज में छुपा कर रख दिया था। लेकिन शनिवार दोपहर तक आसपास बदबू फैल गई थी। जिसके बाद लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस पहले से ही पिता की शिकायत पर प्रियंका की तलाश में जुटी हुई थी। मौके पर पर पहुंचकर उसकी शिनाख्त की और परिजनों बुलाया गया।

Ad