मोटाहल्दू खनन निकासी गेट पर गौला श्रमिकों की आवासीय झोपड़ियों में भीषण अग्निकांड

हल्द्वानी। यहां मोटाहल्दू खनन निकासी गेट पर गौला श्रमिकों की आवासीय झोपड़ियों में अचानक आग लग गई , देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया इस भीषण अग्निकांड में श्रमिकों के 100 से अधिक झोपड़ियां जहां आग की भेंट चढ़ गई वही श्रमिकों के बिस्तर ,कपड़े ,बर्तन ,राशन ,नगदी समेत तमाम घरेलू सामान भी आग में खाक हो गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ,प्रशासन व दमकल की गाड़ियों ने बमुश्किल आग पर काबू पाया।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार की दोपहर गौला खनन निकासी गेट मोटाहल्दू स्थित श्रमिकों के झालों में अचानक आग लग गई, बताया जा रहा है घटना के समय लेबर गौला नदी में रेता बजरी छान रहे थे, सूचना पर आसपास के लोग इकट्ठे हुए तथा श्रमिक भी मौके पर पहुंचे और आग बुझाने के प्रयासों में जुट गए मामले की सूचना पुलिस को दी गई। लेकिन दमकल वाहनों के पहुंचने तक एक के बाद एक दर्जनों झोपडी आग की चपेट में आ गई। स्थानीय ठेकेदार ने बताया कि यहां पर 500 मजदूर रहते हैं तथा उन्होंने करीब डेढ़ सौ झोपड़ियां बनाई हुई है बताया कि एक झाले में 2- 4 श्रमिक रहते हैं। उन्होंने बताया आज दोपहर करीब 12:00 बजे एक झोपड़ी से उठी चिंगारी ने विकराल रूप लेकर सभी डेढ़ सौ झोपड़ियों को खाक में मिला दिया। बताया जा रहा है घटना के करीब पौन घंटे बाद दमकल की गाड़ियों के पहुंचने तक श्रमिकों की सभी झोपड़ियां खाक होने के साथ ही उसमें रखा कपड़े राशन बिस्तर नगदी समेत अन्य घरेलू सामान स्वाहा हो गया। आग में श्रमिकों का कितना नुकसान हुआ है फिलहाल पूरी रिपोर्ट नहीं मिल पाई है। गनीमत रही कि श्रमिकों के काम पर होने के कारण जानमाल का नुकसान नहीं हुआ।

Ad