रेंजर अनिल जोशी व पूर्व चेयरमैन पवन चौहान ने बौरखत्ता चौकी तथा वन विभाग के परिसर में किया पौधारोपण

लालकुआं। विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर डौली रेंज वन विभाग के परिसर तथा बौरखत्ता चौकी में पौधारोपण किया गया इस दौरान फलदार एवं छायादार पौधे लगाए गए पौधारोपण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पूर्व चेयरमैन पवन चौहान ने भी शिरकत की वहीं डौली रेंज के रेंजर अनिल जोशी ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना काल में लोगों को पर्यावरण संरक्षित रखने की सीख मिली है और लोगों को एहसास भी हुआ है कि जब पर्यावरण बचेगा तभी जिंदगी बचेगी। उन्होंने कहा कि वन विभाग द्वारा क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों को 11-11 पौधे भी दिए गए हैं ताकि वह अपने-अपने क्षेत्रों में पौधरोपण कर सकें। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए निवेदन किया की पौधारोपण सिर्फ फोटोग्राफी तक ही सीमित ना रखें बल्कि पौधों की देखभाल भी करें या फिर ऐसे स्थानों पर पौधे लगाएं जहां उनकी देखभाल हो सके। उन्होंने तुलसी एवं पीपल जैसे पौधों का उदाहरण देते हुए कहा कि ऐसे पौधे 24 घंटे ऑक्सीजन छोड़ते हैं जिससे कि आसपास का वातावरण शुद्ध रहता है और ऐसे पौधे भी लगाते रहना चाहिए। वहीं पूर्व चेयरमैन पवन चौहान ने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर तो पौधे लगाते ही हैं अन्य मौकों पर भी पौधरोपण करते रहना चाहिए और लोगों को कोरोना काल में एहसास हुआ है कि ऑक्सीजन हम सभी के लिए कितनी कीमती है ऐसे में ऑक्सीजन छोड़ने वाले पौधों का भी रोपण करना चाहिए और लोगों को इस बात का भी एहसास हुआ है कि जो ऑक्सीजन मुफ्त में मिल सकती है उसे अन्य देशों से खरीदना पड़ा है इसलिए ऑक्सीजन युक्त पौधों का रोपण करना चाहिए जिससे कि अपने आसपास के वातावरण को शुद्ध रखा जा सके इससे पर्यावरण भी संतुलित रहता है इसलिए पौधों का रोपण और उनकी देखभाल करना भी आवश्यक है । पौधारोपण कार्यक्रम में मुख्य रूप से पूर्व चेयरमैन पवन चौहान, रेंजर अनिल जोशी, डिप्टी रेंजर लक्ष्मण सिंह मेवाड़ी, फॉरेस्टर अन्नपूर्णा सागर, दिनेश चंद्र तिवारी, भुवन तिवारी, मदन बिष्ट , ललित मोहन जोशी, वन आरक्षी मेनका , हरदीप तथा नीमा, पंकज जोशी, राम प्रसाद सहित तमाम वन कर्मी मौजूद रहे।

Ad