सांसद अजय भट्ट ने केंद्रीय मंत्री से प्रदेश हित में किया यह बड़ा अनुरोध

हल्द्वानी। उत्तराखंड के नैनीताल उधम सिंह नगर संसदीय क्षेत्र से सांसद अजय भट्ट ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करते हुए नैनीताल जिले के हल्द्वानी के पास गोरा पढ़ाव स्थित रक्षा जैव ऊर्जा अनुसंधान DIBER को दूसरे प्रदेश में स्थानांतरण न किए जाने को लेकर निवेदन किया।

इसके लिए सांसद अजय भट्ट ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को ज्ञापन देते हुए बताया कि उत्तराखंड के सामरिक रूप से संवेदनशील सीमाएं नेपाल और चीन के साथ हैं राज्य के 13 में से 5 जिले सीमांत क्षेत्रों में है और इन इलाकों में सैनिकों द्वारा सीमा पर सुरक्षा के अलावा सीमांत गांव के नागरिक भी ग्राम प्रहरी के तहत अपना सहयोग दे रहे हैं जिसके लिए 1962 में उत्तराखंड में सैन्य संबंधित शोध कार्य के लिए डीआरडीओ ने उत्तराखंड में स्वतंत्र शोध इकाइयों की स्थापना की सेनाओं को खाद्य पूर्ति व अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति का कार्य सौंपा गया जिसकी पहली इकाई अल्मोड़ा रिसर्च यूनिट स्थापित हुई और 3 फील्ड स्टेशन औली (चमोली), हर्षिल जिला उत्तरकाशी तथा पंडा फार्म पिथौरागढ़ में स्थापित किए गए।

इसके अलावा डीआरडीओ की प्रयोगशाला रक्षा जैव ऊर्जा अनुसंधान संस्थान हल्द्वानी नैनीताल में स्थित है जो इन तीनों इकाइयों औली, हर्षिल और पंडा फार्म को कुशलता एवं पूर्ण निष्ठा से संचालित कर रही है। यही नहीं सांसद अजय भट्ट ने बताया कि यह सैनी संबंधित आवश्यकताओं को पूरी करने के साथ-साथ आत्मनिर्भर भारत में भी अपना योगदान दे रही है ।लिहाजा रक्षा जैव ऊर्जा अनुसंधान संस्थान हल्द्वानी नैनीताल की सामरिक दृष्टि से महत्वता के दृष्टिगत इस प्रतिष्ठित संस्थान को किसी अन्य प्रयोगशाला अथवा दूसरे प्रदेश में स्थानांतरित न किया जाए।

Ad