किच्छा में स्वच्छता के लिए निकाली रैली

यशवंत कुमार, संवाददाता हिमालय प्रहरी

किच्छा नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड 18 सिरौली में स्वच्छता को लेकर रविवार को एक जागरूकता रैली निकाली गई। केपीएस संस्था के नेतृत्व में क्षेत्र को गंदगी मुक्त करने के लिये आम जनमानस को स्वच्छता के प्रति जागरूक किया गया। जिसमें जनता को जैविक कचरा हरे डस्टविन में व सूखा कचरा नीले डस्टविन में व वायो-मेडिकल कचरा लाल डस्टविन में रखने हेतु जागरूक किया गया। इसमें मुख्य रूप से केपीएस संस्था के इंचार्ज संदीप कुमार धानुक, सभासद तौसीफ हुसैन, कैलाश वाल्मीकि, नितिन चरन, अरुन कुमार, बंटी, रवि, योगेश, सौरभ, करन, कुलदीप, अंकित आदि उपस्थित रहे।

स्वच्छ भारत एक चुनौती

पांच वर्ष पूर्व शुरू हुए स्वच्छ भारत अभियान के अन्तर्गत देश भर में लगभग 12 करोड़ शौचालयों के निर्माण की बात हो या देश के ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छ जल पहुंचाने की मुहिम हो या फिर नागरिक समाज द्वारा लोगों को स्वच्छता एवं स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता करने की सार्थक पहल हो, सभी के संयुक्त प्रयास से स्वच्छता की दिशा में एक बड़ी मुहिम चलाने में भारत सफल रहा है। जरूरत इस बात की है कि भारत के सभी लोग इस अभियान का और विस्तार देने के लिए आगे आएं और स्वच्छता अभियान को मजबूती प्रदान करें।

विगत पांच वर्षों में स्वच्छता को लेकर देश में जनमानस का मन बहुत ही सकारात्मक हुआ है। कूड़ा कहीं भी फेंकते समय हाथ खुद-ब-खुद रुकने लगे हैं। घर के छोटे-छोटे बच्चों ने भी स्वच्छता के संदेश को अंगीकार किया है। ऐसा कई बार देखने को मिला है कि घर के छोटे बच्चे बड़ों को ‘स्वच्छता’ का पाठ पढ़ा रहे हैं। इधर-उधर कचरा फेंकने पर टोकते हुए दिख जाते हैं। यह एक सकारात्मक बदलाव का प्रतीक है। इस बदलाव को और तेजी से आगे बढ़ाने की जरूरत है। इस दिशा में सरकार के साथ-साथ आम जन की जितनी भागीदारी होगी, यह अभियान उतना ही मजबूत होगा। साथ ही, देश के स्वास्थ्य पर बीमारियों का बोझ भी कम होगा।

Ad