खनन कारोबारियों को समर्थन देने पहुंचे नेता उप प्रतिपक्ष भुवन चंद्र कापड़ी, आर पार की लड़ाई का दिया भरोसा

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी: नैनीताल के हल्द्वानी में 7 सूत्रीय मांगों को लेकर खनन कारोबारी पिछले 3 महीने से धरना प्रदर्शन कर रहे हैं. लालकुआं के मोटाहल्दू चौराहे पर एक प्रदेश एक रॉयल्टी सहित विभिन्न मागों को लेकर गौला खनन संघर्ष समिति के बैनर तले चल रहा अनिश्चितकालीन धरना जारी है. धरने को समर्थन देने पहुंचे खटीमा विधायक एवं नेता उप प्रतिपक्ष भुवन चंद्र कापड़ी ने प्रदेश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि जब तक आंदोलनकारियों की मांगें पूरी नहीं होती तब तक धरना जारी रहेगा.

बता दें कि एक प्रदेश एक रॉयल्टी की मांग को लेकर गौला खनन संघर्ष समिति के बैनर तले खनन व्यवसायियों का लालकुआं के मोटाहल्दू में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन 20 वें दिन भी जारी रहा. इधर धरने को समर्थन देने पहुंचे खटीमा विधायक भुवन चंद्र कापड़ी ने कहा कि प्रदेश सरकार कि गलत नितियों के कारण खनन कार्य चौपट हो गया है. बेरोजगारी चरम पर है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार चंद लोगों को फायदा पहुंचाने का काम कर रही है. उन्होंने कहा कि पिछले 20 दिन से गौला नदी से जुड़े हजारों लोग धरना दे रहे हैं, लेकिन सरकार इस ओर कोई ध्यान नहीं दे रही है. उन्होंने धरने को अपना समर्थन देते हुए हर संभव मदद और आर पार की लड़ाई का भरोसा दिया है.

वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरेंद्र बोरा ने कहा कि रॉयल्टी की दरें कम करने के साथ-साथ परिवहन विभाग द्वारा जीपीएस सिस्टम लगाने के लिए मोटी रकम साढ़े 7 हजार रुपए निर्धारित कर दी है. जबकि, बाजार में जीपीएस सिस्टम 1200 से 1500 तक लगाया जा रहा है. इसके अलावा परिवहन विभाग द्वारा पूर्व में गाड़ियों की फिटनेस 1400 रुपये में की जा रही थी. जिसके लिए अब 14,500 रुपए लिए जा रहे हैं.