पूरी फैमिली को मार डालने वाले नशेड़ी बेटे ने भाई को दी धमकी-जब मैं जेल से बाहर आऊंगा, तो तुम्हारी बारी होगी

नशे की लत पूरी नहीं होने से क्रोधित 25 वर्षीय युवक द्वारा अपने मां-बाप, बहन और दादी का कत्ल करने के मामले में कई बड़े खुलासे हुए हैं। दिल्ली को हिला देने वाले इस हत्याकांड से अभी और पर्ते खुलना बाकी हैं। बता दें कि यह जघन्य हत्याकांड मंगलवार रात(22 नवंबर) दक्षिणी-पश्चिमी दिल्ली के पालम इलाके में हुआ था। हैरानी की बात यह है कि अपनी पूरी फैमिली को मौत के घाट उतारने के बावजूद आरोपी के चेहरे पर जरा-सी भी सिकन नहीं है। पढ़िए हत्याकांड में नया खुलासा…

हत्या के बाद लाशों के पास बैठा रहा आरोपी, पढ़िए 15 बड़े पॉइंट

1. दिल दहलाने वाली यह वारदात मंगलवार रात करीब 10 बजे हुई थी। पुलिस ने एक परिवार के चार शव बरामद किए थे। इस मामले में मृतक परिवार के बेटे केशव को गिरफ्तार किया गया है।

2. पुलिस ने मृतकों की पहचान केशव के पिता दिनेश (50), मां दर्शना, बहन उर्वशी और दादी दीवानो देवी (75) के रूप में की थी। पुलिस ने बताया कि रात करीब दस बजे परिवार के चिल्लाने की आवज सुनकर पड़ोसियों ने इसकी शिकायत पुलिस को दी। फिर पुलिस घर में पहुंची तो वहां का नजारा देखकर दंग रह गई। क्योंकि चारों तरफ खून बिखरा हुआ था और चारों लोग लहूलुहान हालत में पड़े हुए थे। हैरान की बात यह थी कि आरोपी हत्या करने के बाद भागा नहीं था। वह शव के पास बैठा था।

3. पुलिस की जांच में पता चला है कि आरोपी केशव नशे का आदी है। वो अपने घर से पैसा लेकर नशे की लत पूरी करता था। जब पैसा नहीं मिलता था, तो लड़ाई-झगड़ा करता था। कई बार वो अपने मां-बाप को जान से मारने की धमकी दे चुका था। केशव को उसके परिजन कई बार नशा मुक्त केंद्र भी लेकर गए, लेकिन वो वहां से भाग निकला।

4. नशे की लत के चलते केशव ने 12वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी। उसकी बहन मेडिकल की पढ़ाई कर रही थी। पुलिस की जांच में यह भी सामने आया है कि नशे की लत पूरी करने के लिए आरोपी दूसरों के घरों में चोरियां भी करने लग गया था। उसकी कई बार पुलिस में शिकायत भी की गई थी।

5. बुधवार को गिरफ्तार किए गए 25 वर्षीय केशव ने अपने चचेरे भाई को पुलिस द्वारा हिरासत में लेने से ठीक पहले जान से मारने की धमकी दी थी। कुलदीप सैनी (26) ने ही केशव को उस समय पकड़ा था, जब वह हत्याओं के बाद भागने की कोशिश कर रहा था और उसे पुलिस को सौंप दिया। हालांकि इससे पहले वो लाश के पास ही बैठा रहा था।

6. आरोपी ने अपने किए पर बिना किसी पछतावे के पुलिस की गिरफ्त में ही चचेरे भाई को धमकी दी थी-“जब मैं जेल से बाहर आऊंगा, तो तुम्हारी बारी होगी।”

7. कुलदीप सैनी के अनुसार,केशव और उसके परिवार एक ही बिल्डिंग के अलग-अलग फ्लोर पर रहते थे। कुलदीप ने कहा-“रात के लगभग 10 बजे मैंने अपनी चचेरी बहन उर्वशी (केशव की बहन) को मेरा नाम पुकारते और मदद के लिए चिल्लाते हुए सुना। जब मैं ऊपर गया, तो मैंने देखा कि मुख्य द्वार के ठीक बाहर का गेट बंद था और वहां सन्नाटा था। मैंने दरवाजा खटखटाया और केशव से इसे खोलने के लिए कहा। लेकिन उसने जोर देकर कहा कि मैं चला जाऊं, क्योंकि यह उनका पारिवारिक मामला है।”

8. कुलदीप सैनी ने कहा कि बाद में उसने देखा कि केशव स्कूटर पर भागने की कोशिश कर रहा था, लेकिन उसे पकड़ लिया और उसे पुलिस को सौंप दिया। सैनी ने कहा, “जब पुलिस उसे ले जा रही थी, तो उसने मुझसे कहा कि वह 10 से 15 साल जेल में रहेगा और जब वह अपनी अवधि पूरी कर लेगा, तो वह मुझे मार डालेगा।”

9. कुलदीप के अनुसार-” उसने और उसके माता-पिता ने लोहे की जाली काटकर केशव के मुख्य दरवाजे के बाहर का गेट खोला और अपनी दादी और उर्वशी को एक कमरे में खून से लथपथ और केशव के माता-पिता को वॉशरूम में मृत पाया। केशव नशे के लिए पैसे की मांग को लेकर अपने परिवार से मारपीट करता था। मंगलवार को भी उसकी मां से बहस हुई थी।”

10. कुलदीप सैनी ने यह भी कहा कि केशव का आपराधिक इतिहास रहा है। लगभग 5 साल पहले वह बेंगलुरु में काम कर रहा था, तब वहां दस्तावेजों की चोरी के लिए मामला दर्ज किया गया था। वह एक ATM डकैती में भी शामिल था और करीब डेढ़ साल तक तिहाड़ जेल में बंद रहा था।

11. कुलदीप सैनी के अनुसार-“3 नवंबर को उसने अपनी दादी से पैसे मांगे, लेकिन उसने मना कर दिया, जिसके बाद केशव ने पहली मंजिल से इन्वर्टर की बैटरी चुरा ली और अपने तीन दोस्तों के साथ चला गया। यह घटना एक सीसीटीवी फुटेज में कैद हो गई थी। पालम पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया गया था।”

12. कुलदीप सैनी ने कहा, “मेरी दादी दो दिन पहले दूसरी मंजिल पर शिफ्ट हो गई थीं। उन्होंने मुझसे कहा था कि वह कुछ महीनों में वापस आ जाएंगी। लेकिन उनकी भी मौत हो गई।”

13. दर्शना के भाई यानी आरोपी के मामा श्री कृष्ण (48) ने कहा कि उन्हें संदेह है कि घटना पूर्व नियोजित थी। “मुझे रात करीब 10.20 बजे फोन आया कि केशव ने अपने परिवार के सदस्यों की हत्या कर दी है। मैं बुराड़ी में अपने निवास से यहां पहुंचा था। हमने कभी नहीं सोचा था कि ऐसा होगा। वह एक ड्रग एडिक्ट था और पैसे को लेकर अपने परिवार के सदस्यों से लड़ता था। उसे दो बार पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराया गया था।”

14.श्री कृष्ण ने कहा”हमें संदेह है कि यह पूर्व नियोजित था। हमें संदेह है कि उसने पहले अपनी दादी को मार डाला। बाद में उसने अपने पिता को मार डाला, जो रात 8 बजे के आसपास घर आए थे। जब उसकी मां लगभग 8.45 बजे आई, तो उसने उसे मार डाला और अंत में रात करीब  9.30 बजे घर पहुंची उर्वशी को मार डाला।”

15. श्री कृष्ण ने आरोप लगाया कि केशव के पास दो बैग पैक करके तैयार थे, ताकि वह भाग सके। एक में उसने अपने कपड़े और दूसरे में आधार कार्ड, एक चेक बुक समेत अपने दस्तावेज रखे थे। एक अलमारी का ताला टूटा हुआ था और उसमें तोड़फोड़ की गई थी।

Ad