प्रसव पूर्ण भ्रूण परीक्षण करते रंगे हाथ पकड़ा गया चिकित्सक


रुड़की: रुड़की में स्वास्थ विभाग की टीम ने स्ट्रिंग ऑपरेशन कर प्रसव पूर्ण गर्भ में भ्रूण लिंग परीक्षण करने का मामला प्रकाश में आया है। रविवार को हरियाणा स्वास्थ विभाग की टीम ने आवास विकास स्थित निजी अस्पताल में चिकित्सक को सोनोग्राफी से भ्रूण परीक्षण करते हुए रंगे हाथ पकड़ा। जिसके बाद स्वास्थ विभाग के साथ आई पुलिस ने चिकित्सक व दलाल को गिरफ्तार करते हुए अल्ट्रासाउंड मशीन समेत अन्य उपकरणों को सीज कर दिया है।
टीम की नोडल अधिकारी डॉक्टर संगीता ने जानकारी साझा करते हुए कहा कि उन्हें काफी लंबे समय से मिल रही शिकायतों के आधार पर इस बात की जानकारी थी कि डॉक्टर एनडी अरोड़ा नर्सिंग होम मैं काफी समय से लिंग की जांच की जा रही है, इसके मद्देनजर उन्हें एक टीम गठन कर स्टिंग ऑपरेशन किया। इसके लिए उन्होंने झज्जर हरियाणा निवासी यशपाल से संपर्क कियाजो अपनी पत्नी का रुड़की में आकर इस निजी अस्पताल में जांच करवाने को तैयार हो गया, इस कड़ी में यशपाल ने मंगलौर निवासी संजय से संपर्क किया और दोनों के बीच ₹35 हजार में लिंग की जांच का सौदा तय हुआ, सौदा तय होने के बाद संजय यशपाल वह उसकी पत्नी को लिंग की जांच करवाने के लिए आवास विकास स्थित डॉक्टर अरोड़ा के निजी अस्पताल में ले आया, इसी कार्यवाही में जब महिला को अल्ट्रासाउंड करने के लिए ले जाया गया उसी दौरान टीम ने पुलिस के साथ दलाल समेत चिकित्सक को रंगे हाथों अपनी हिरासत में ले लिया।
स्वास्थ्य विभाग की टीम को डॉक्टर अरोड़ा के पास से ₹10 हजार नकद एवं दलाल संजय के पास से ₹14 हजार बरामद हुए, टीम ने कार्यवाही करते हुए अल्ट्रासाउंड मशीनों को अपने कब्जे में ले लिया।
साथ ही टीम ने यह जानकारी भी दी की डॉ एन डी अरोड़ा पहले भी लिंग जांच के आरोप में पकड़ा गया है और अब दूसरी बार भी उसे रंगे हाथों पकड़ा गया है।

Ad