रानीखेत : जीआईसी भुजान में शिक्षक कमरों में हुए कैद, जानिए कारण

रानीखेत : जीआईसी भुजान में शिक्षकों के बीच विवाद से पढ़ाई पर पड़ रहे असर से अभिभावकों ने मोर्चा संभाल लिया है। रविवार को गांधी जयंती के दिन स्कूल पहुंचे अभिभावकों और पूर्व छात्रों ने विवादित शिक्षकों के तबादले की मांग को लेकर गेट पर ताला जड़ दिया।

इससे कुछ देर के लिए शिक्षक कमरों में कैद हो गए। शिक्षा विभाग के अधिकारियों के पहुंचने और आश्वासन के बाद ताला खुल सका।
जीआईसी भुजान में कुछ समय से कुछ शिक्षकों के बीच लगातार विवाद के मामले सामने आ रहे थे। दो दिन पूर्व विद्यालय की महिला प्रवक्ता ने विद्यालय के ही एक शिक्षक पर छेड़खानी और अभद्र टिप्पणी करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। इससे पहले भी विद्यालय की एक महिला शिक्षिका ने विद्यालय के तीन शिक्षकों पर एससी एसटी एक्ट में केस दर्ज कराया था।
बिगड़ते शैक्षिक माहौल से गुस्साए पूर्व छात्रों और अभिभावकों ने रविवार को विद्यालय में प्रदर्शन किया। स्कूल में गांधी जयंती के कार्यक्रम के दौरान बखेड़ा होने पर संयुक्त मजिस्ट्रेट जय किशन और खंड शिक्षा अधिकारी एसएस चौहान मौके पर पहुंचे। उन्होंने प्रदर्शनकारियों को समझाने का प्रयास किया। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि शिक्षा के मंदिर में कुछ शिक्षकों के कारण माहौल बिगड़ रहा है। पठन-पाठन भी प्रभावित हो रहा है। बीईओ के आश्वासन के बाद प्रदर्शनकारी शांत हुए।

जीआईसी भुजान में पांच शिक्षकों को लेकर विवाद चल रहा है। प्रदर्शनकारी इन शिक्षकों के तबादले की मांग कर रहे हैं। उनकी मांग हमने मुख्य शिक्षा अधिकारी के पास पहुंचा दी है।
-एसएस चौहान, खंड शिक्षा अधिकारी, ताड़ीखेत।

Ad