सातवीं पत्नी ने सुला दिया मौत की नींद, फिर थाने जाकर बोली रात को बह रहा था खून सुबह उठा ही नहीं मेरा पति, गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

रतलाम जिले से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जहां एक व्यक्ति की सातवीं पत्नी उसके लिए मौत साबित हुई। पति की मौत की वजह बनी चार लड़कियों की यह मां खुद ही थाने भी पहुंच गई और पुलिस से बोली कि रात को ट्रेक्टर लेकर आए मेरे पति के सिर से खून बह रहा था, वजह पूछी तो बोला सुबह बताउंगा। अब उठ ही नहीं रहा है। किसी एक्सीडेंट के कारण मर गया है।

रहस्यों से भरी यह घटना रतलाम के सिमलापाड़ा गांव की है। जब संतोष बाई नाम की महिला ने थाने पहुंचकर पुलिस को यह कहानी सुनाई। हालांकि महिला की यह कहानी ज्यादा देर तक ठहर नहीं सकी और महिला भी जेल जाने से नहीं बच सकी। यह मृतक की सातवीं पत्नी है और वर्तमान में वही साथ रह रही थी। जबकि बाकी छह पत्नियों की जानकारी पुलिस अभी निकाल रही है। शिकायत मिलने पुलिस ने अगले ही दिन प्रमेश सिंगाड़ की हत्या के आरोप में उसकी पत्नी संतोष बाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। टीआई दीपक मंडलोई के मुताबिक महिला की बात गले नहीं उतर रही थी। जब मौके पर जाकर परिवारजनों और पड़ोसियों से पूछताछ की गई तो असलियत सामने आ गई।

महिला ने ये बनाई थी कहानी
मंगलवार दोपहर थाने पहुंची महिला ने पुलिस को बताया कि उसका पति प्रमेश सिंगाड़ 45 वर्षख, खेतों में ट्रैक्टर चलाने का काम करता है। वह सोमवार को रात 2 बजे खून से लथपथ होकर घर आया था उनके सिर और हाथ-पैर से खून निकल रहा था। मैंने पूछा तो बोला कल बताऊंगा और वह घर में पीछे वाले दरवाजे के पास सो गया। मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे उनका एक्सीडेंट हुआ है। मैंने जब सुबह पीछे वाले कमरे में जाकर उसे उठाया तो उठा ही नहीं।

यह सामने आई हकीकत
पति-पत्नी के बीच रात में झगड़ा हुआ था। पति शराब पीने का आदी था और आए दिन पत्नी और बच्चों से मारपीट करता था और घर से बाहर निकाल देता था। घटना वाली रात भी उसने महिला से मारपीट की। इसी बीच महिला के हाथ में लोहे की रॉड आ गई। उसी रॉड से पत्नी ने पति पर ताबड़तोड़ वार कर दिए, जिससे उसकी मौत हो गई। महिला ने रॉड पीछे गाड़ दी और फिर झूठी कहानी बनाकर वह अगले दिन थाने पहुंच गई।

पुलिस को इसलिए हुआ शक
पुलिस को पहली नजर में ही महिला की कहानी झूठी लग रही थी। पहला शक तो इसी बात से हुआ कि दोपहर में रिपोर्ट कराने आई है और घायल को अस्पताल नहीं भेजा गया। फिर जब पुलिस ने महिला की बेटियों, परिवारवालों और पड़ोसियों से पूछताछ की तो सच्चाई सामने आई गई। फिर सख्ती बरती तो आरोपी महिला ने खुद ही पूरा घटनाक्रम बता दिया। पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर गुरूवार को कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। महिला की 16, 12, 8 व 6 साल की बेटियां हैं। उसका भाई दिनेश गरवाल भी साथ रहता है। मृतक और उसकी इस सातवीं पत्नी के खिलाफ पहले से ही मारपीट के दो-दो केस दर्ज हैं।