सुलझने की जगह उलझती जा रही राजस्थान की राजनीति, गहलोत के मंत्री ने पायलट के खिलाफ दिया बड़ा बयान

किस्सा कुर्सी का, ऐसा है कि थमने का नाम नहीं ले रहा है। राजनीति सुलझने की जगह उलझती जा रही है। बयान वीर लगातार बयानों के बाण छोड़ते जा रहे हैं लेकिन अभी तक आलाकमान की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के टॉप 3 नेताओं में शामिल खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने सचिन पायलट के खिलाफ मोर्चा खोला है। साथ ही दिल्ली से आए पर्यवेक्षकों को भी आड़े हाथों लिया है ।

उस आदमी को कैसे सीएम बना सकता है जिसके पास सिर्फ 18 आदमी
आज शाम जयपुर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रताप सिंह ने कहा कि अपनी राय रखना नाराजगी कब से हो गई । लोकतंत्र में फैसला नंबर गेम से होता है। आप उस व्यक्ति को कैसे सीएम बना सकते हैं जिनके पास सिर्फ 18 एमएलए हैं । हम 102 एमएलए रखते हैं।  विधायक जिसके साथ होता है उसकी बात सुननी और समझनी चाहिए । ऐसे 1 लाइन में फैसले नहीं सुनाने चाहिए।

मंत्री को याद आई बाड़बंदी
हमारे राजस्थान में horse ट्रेडिंग का खेल हुआ।  जांच एजेंसियां राजस्थान में सक्रिय हो गई।  35 दिन तक हम लोग बाड़बंदी में रहे । यह सब जिसके कारण हुआ उसी को इतना वेटेज दिया जा रहा है। प्रताप सिंह ने कहा झगड़े हर परिवार में होते हैं । छोटे-मोटे  झगड़े चलते रहते हैं।  लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि दूसरे पक्ष को सुना ही नहीं जाए।

मंत्री ने बीजेपी पर भी साधा निशाना
बीजेपी के झूठ और अन्याय के खिलाफ राहुल गांधी पद यात्रा निकाल रहे हैं।  हम उनके साथ हैं।  हम आलाकमान के साथ हैं । हमारा एक-एक विधायक सोनिया गांधी, राहुल गांधी किसी के भी खिलाफ नहीं है।  हमारे नेताओं के लिए हम अपनी जान भी दे सकते हैं।  हमारे नेताओं के लिए हमने सीबीआई , ईडी,  इनकम टैक्स के खिलाफ सड़कों पर बड़े प्रदर्शन किए हैं । उन सब चीजों को तो ध्यान में रखा जाना चाहिए ही । लोकतंत्र में सबको अपनी बात कहने का हक है।  लेकिन इस तरह से नाराजगी कहां तक उचित है ।

‘सोनिया गांधी और आलाकमान हमारे साथ इंसाफ करेंगे’
प्रताप सिंह ने कहा कि शांति धारीवाल ने अगर अजय माकन के खिलाफ कुछ कहा तो सोच समझकर ही कहा होगा । मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के लिए प्रताप सिंह ने कहा कि वे राजनीति के जादूगर हैं, हम उनके सामने बच्चे हैं । जितनी हमारी उम्र है उतनी उनकी राजनीति हो चुकी। अंत में प्रताप सिंह ने कहा कि हमें भरोसा है, सोनिया गांधी और आलाकमान हमारे साथ इंसाफ करेंगे।

Ad