हल्द्वानी : जानिए क्यों छोटे बच्चे हाथ में तख्ती लिए पूछ रहे हैं कि उनके भविष्य का क्या होगा ?

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी शहर में हजारों की संख्या में लोगों ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया। नैनीताल हाईकोर्ट ने रेलवे की 78 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण कर बनाए गए 4365 भवनों को ध्वस्त करने के आदेश दिए हैं।

लेकिन इस विरोध प्रदर्शन की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रही हैं। इन तस्वीरों में छोटे बच्चे हाथ में तख्ती लिए पूछ रहे हैं कि उनका भविष्य क्या होगा। वे अब कहां स्कूल पढ़ेंगे। फिलहाल इन लोगों के पास 10 जनवरी तक का समय है। इस बीच ये लोग अब सरकार की तरफ उम्मीदें लगाकर बैठे हैं।

चार हजार से ज्यादा मकानों पर बुलडोजर चलने वाला

हल्द्वानी के बनभूलपुरा में अवैध रूप से बने चार हजार से ज्यादा मकानों पर बुलडोजर चलने वाला है। नैनीताल हाईकोर्ट ने रेलवे की 78 एकड़ जमीन पर अतिक्रमण कर बनाए गए 4365 भवनों को ध्वस्त करने के आदेश दिए हैं। अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई शुरू होने सूचना मिलते ही सड़कों पर हजारो लोग उतर आए। क्या बच्चे, क्या बूढ़े। हर कोई इस बात को लेकर चिंतित है। उनका अगला ठिकाना क्या होगा। सीमांकन करने आई टीम के विरोध में सैकड़ों लोगों ने थाने के बाहर धरना देकर अपना विरोध भी दर्ज कराया। सीमांकन के लिए एक टीम बनाई गई है। इसमें रेलवे, राजस्व विभाग के अधिकारियों के साथ सिटी मजिस्ट्रेट और एसडीएम शामिल हैं। अब 10 जनवरी को कार्रवाई होगी। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो इस अभियान में 23 करोड़ खर्च किए जाएंगे। सात हजार पुलिस कर्मियों व 15 कंपनी पैरामिलिस्ट्री फोर्स की मौजूदगी में अतिक्रमणकारियों पर बुलडोजर गरजेगा। इससे पहले मुनादी की जाएगी। इस क्षेत्र में बसे हजारों घर राजनीतिक पार्टियों के लिए मजबूत वोट बैंक रहे हैं। इस क्षेत्र में अब बुलडोजर चलने की जानकारी मिलते ही सियासत गरमा गई है। कांग्रेस नेता और क्षेत्रीय​ विधायक सुमित ह्रदयेश भी यहां के लोगोंं के समर्थन में उतर कर सरकार के खिलाफ विरोध कर रहे हैं।