हाथियों के बाद अब बिन्दुखत्ता व बरेली रेट रोड के गांवों में आवारा जानवरों का आतंक


लालकुआं: बिन्दुखत्ता व बरेली रोड के गांवों में जंगली व आवारा जानवरों ने किसानों की नींद हराम कर दी है जंगली व आवारा पशुओं से अपनी फसलों को बचाने के लिए किसान रात भर जाग रहे हैं, लेकिन फिर भी वह अपने फसल को बचाने में कामयाब नहीं है।
उल्लेखनीय है कि इन दिनों सड़कों पर आवारा घूमने वाले गौवंशीय पशु अपनी भूख मिटाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों की ओर रुख करने लगे हैं। रात होते ही इनका झुंड गांव में जाकर खड़ी फसलों में आतंक मचाता है। अपनी फसलों को बचाने के लिए भीषण ठंड में किसानों को रात भर जागकर पहरेदारी करनी पड़ रही है। किसानों का कहना है कि रात भर जागने के बाद भी वह आवारा पशुओं को रोकने में कामयाब नही हो पा रहे है। बिन्दुखत्ता के किसान नरसिंह, दरबान सिंह, नारायण नाथ, मोहन सिंह समेत तमाम किसानों ने शासन प्रशासन से आवारा पशुओं के आतंक से निजात दिलाने की मांग की है ।

लालकुआं: गौवंशीय पशुओं के संरक्षण के लिए सरकार द्वारा कोई ठोस पहल नहीं करने से तमाम समस्याएं सामने आ रही हैं। सड़कों में खड़े आवारा पशुओं के झुंड से जहां दुर्घटनाओं का भय बना रहता है । वही रात में फसलों को लौटकर यह पशु किसानों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। क्षेत्र के बुद्धिजीवी लोगों का कहना है कि सरकार को गौवंशीय पशुओं के संरक्षण के लिए ठोस पहल करनी होगी।

Ad