67 साल के बुजुर्ग को नौकरानी से संबंध बनाते समय आया हार्ट अटैक, फिर सड़क पर मिला शव, कहानी चौंकाने वाली

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में 67 साल के बुजुर्ग की मौत के मामले में हैरान करने वाला खुलासा हुआ है। इस बुजुर्ग का शव सड़क किनारे प्लास्टिक बैग और बेडसीट में लिपटा मिला था। जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने आरोपी महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की। पूछताछ में आरोपी महिला ने बताया कि उसने अपने पति और भाई के साथ मिलकर बुजुर्ग का शव फेंका था। उसने इसके पीछे की जो वजह बताई, वो बेहद ही चौंकाने वाली है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुलिस को 35 वर्षीय नौकरानी ने बताया कि उसके मालिक 67 वर्षीय बाला सुब्रमण्यन से अवैध संबंध चल रहा था। 16 नवंबर को वो उनके घर आए थे। नौकरानी ने बताया कि दोनों संबंध बना रहे थे, इसी बीच सुब्रमण्यन को हार्ट अटैक आ गया और मौके पर ही मौत हो गई।

इससे वो बुरी तरह घबरा गई। उसने तुरंत अपने पति और भाई को इस घटना के बारे में बताया कि उसके मालिक यहां किसी काम के चलते आए थे और अचानक हार्ट अटैक आ गया। इसके बाद उसने उन्हें गुमराह किया कि अगर बात खुली तो बदनामी हो जाएगी और पुलिस भी उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकती है। इसके चलते तीनों ने मिलकर सुब्रमण्यन का शव प्लास्टिक में डालकर ऊपर से बेडशीट से बांध दिया। इसके बाद जेपी नगर में सड़क किनारे शव फेंक दिया। पुलिस ने बताया कि 17 को बुजुर्ग का शव मिला। इसके बाद जांच के दौरान नौकरानी पर शक गहरा हुआ और कड़ी से पूछताछ की तो उसने चौंकाने वाला खुलासा किया दिया।

ऐसे हुई शव की शिनाख्त

पुलिस ने बताया कि बाला सुब्रमण्यम 16 नवंबर को अपने पोते को बैडमिंटन क्लास छोड़ने के लिए घर से निकले थे। बुर्जुग ने शाम 4.55 में अपने बहू को फोन कर कहा मुझे कुछ काम पड़ गया है, इसलिए घर लौटने में देर हो जाएगी। देर शाम होने के बाद भी बुर्जुग घर नहीं लौटा, उसका फोन भी स्विच ऑफ आ रहा था। आखिरकार बेटे ने थाने जाकर अपने पिता की गुमशुदगी दर्ज कराई। अगर दिन जब शव मिला तो पुलिस की शिनाख्त करने में देरी भी नहीं लगी।

पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट कराने से ही पता चल गया था कि बुजुर्ग की मौत हार्ट अटैक की वजह से हुई है, लेकिन शव यहां कैसे पहुंचा, इस पर जांच शुरू कर दी थी। अब मामला सुलझ गया है। आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Ad