अंकिता भंडारी ही पुलकित आर्य का अकेला शिकार नहीं? पुलिस कर रही रिजॉर्ट से लापता हुई एक और लड़की की तलाश

देहरादून. उत्तराखंड को शर्मसार करने वाले अंकिता भंडारी हत्याकांड में पल-पल नया मोड़ आ रहा है. ताजा मामला एक और लड़की के गायब होने से जुड़ा है. इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी और पूर्व बीजेपी नेता के बेटे पुलकित आर्य के ‘वनंतरा रिजॉर्ट’ से एक और लड़की संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हुई थी. बताया जा रहा है कि यह लड़की भी अंकिता की तरह पौढ़ी गढ़वाल से ही थी. वह 8 महीने पहले ही यहां से गायब हुई है.

उस वक्त पुलिकत आर्य ने पुलिस में रिपोर्ट कर आरोप लगाया था कि लड़की उसके रुपये और चीजें लेकर भाग गई है. लेकिन अब अंकिता मर्डर केस के मद्देनजर और सत्ता पक्ष के प्रति होते प्रदर्शन को देख पुलिस ने लड़की के अचानक गायब होने के मामले में जांच के आदेश दिए हैं.

गौरतलब है कि पुलिस ने 23 सितंबर को पुलकित आर्य के साथ-साथ रिजॉर्ट के मैनेजर और असिस्टेंट मैनेजर को अंकिता भंडारी मर्डर केस में गिरफ्तार किया था. इस केस के मद्देनजर बीजेपी ने पुलकित के पिता विनोद आर्य और भाई अंकित आर्य को निष्कासित कर दिया था.

आदतन अपराधी है आरोपी’
बताया जा रहा है कि एक स्थानीय नागिरक ने यह राज खोला कि पुलकित से लड़की गायब हुई और उसका नाम बिट्टो भंडारी है. शख्स ने आरोपी पुलकित को आदतन अपराधी और अव्यावहारिक बताया. यह भी कहा जा रहा है कि आरोपी ने एक बार अपनी कैंडी बनाने वाली फैक्ट्री से मजदूर का अपहरण कर लिया था. मजदूर का कसूर केवल इतना था कि उसने आरोपी से मजदूरी मांग ली थी. उस वक्त एक समाजसेवी ने कथित रूप से मजदूर की मदद की और उसे बचा लिया. समाजसेवी इस मुद्दे को गांव के मुखिया के पास भी ले गया. वहां, मजदूर ने पुलकित के ऊपर धमकाने के आरोप लगाए थे.

कोविड-19 नियम तोड़ने पर हुई थी गिरफ्तारी
जानकारी के मुताबिक, साल 2020 में पुलिस ने पुलकित को कोविड-19 के नियम तोड़ने पर गिरफ्तार किया था. वह बिना ट्रैवल पास के बद्रीनाथ मंदिर के रास्ते में प्रवेश कर गया था. उस दौरान उसके साथ एक और नेता अमरमणी त्रिपाठी था. त्रिपाठी इन दिनों हत्या के आरोप में जेल में है.

Ad