डेरी उद्योग से जुड़े इस कारोबार को सरकार दे रही है बेहद कम ब्याज दर में लोन, ऐसे उठाएं फायदा

credit: third party image reference

 

लंबे समय से बंद पड़े काम-धंधे फिर से शुरू हो रहे हैं। लेकिन अभी भी ये वह गति नहीं है जो लॉकडाउन से पहले था। कोरोना काल ने लोगों को रोजगार को लेकर फिर से सोचने के लिए मजबूर कर दिया है। ज्यादातर नौकरीपेशा खासकर प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले लोग खुद का काम शुरू करने का मूड़ बना रहे हैं। और इसके अलावा ऐसे ही काम करते हैं ताकि किसी कोरोना या अन्य परिस्थिति का असर न हो।

एक ऐसा ही काम दूध मिल का है। कोरोना काल में भले ही शादी के तमाम काम ठप पड़ गए थे, लेकिन दूध और दूध से बने उत्पादों की मांग, कीमत और सप्लाई वगैरह में कहीं कोई कमी नहीं आई।

उधर, सरकार ने भी पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं शुरू की हुई हैं। लोग इन योजनाओं का फायदा उठाकर दान का काम शुरू कर सकते हैं। दान एक ऐसा काम है जो छोटी सी जमा-पूंजी से लेकर बहुत अधिक राशि लगाकर शुरू किया जा सकता है। आप दो गाय या भैंस से भी दूध का काम शुरू कर सकते हैं।

यहां हम डेरी उद्योग से जुड़ी योजनाओं की जानकारी दे रहे हैं।

केंद्र सरकार चलाई हुई है। इस योजना के तहत पशुपालन करने वाले व्यक्ति को कुल परियोजना लागत पर 33.33 प्रति तक की सब्सिडी मुहैया कराई जाती है। इस योजना के लिए राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड – कर्ज में छूट मुहैया) है।

स्कीम में 10 भैंस की परी के लिए 7 लाख रुपये तक का कर्ज मुहैया कराया जाता है। सामान्य वर्ग के लोगों के लिए तय 25 प्रतिशत तक है। किसी भी वर्ग की महिला के लिए तय की पास 33.33 प्रति ही होगी।

जरूरी बातें

अगर आप खुद का दान प्लांट खोलना चाहते हैं तो प्लांट की कुल लागत का कम से कम 10 फीसदी पैसा अपनी ओर से लगाना होगा। यह बात भी ध्यान में रखनी होगी कि DEDS के तहत लगने वाली डेरी लोन मंजूर होने के 9 महीने के भीतर शुरू हो जानी चाहिए। इससे ज्यादा समय लगने पर तय का फायदा नहीं मिलेगा इस योजना के तहत दी जाने वाली तय बैक एंडेडीडी होगी इसका मतलब यह है कि जिस बैंक से लोन लिया गया है ।नाबार्ड की राशि उसी बैंक को जारी करेगा।

लोन कैसे प्राप्त करें

सबसे पहले डोर को रेगर्ड करवाएं। डेरी प्लांट के लिए एक साफ और विस्तार से प्रोजेक्ट तैयार करें। इसमें देव का स्थान, पशुओं की संख्या, लागत आदि के बारे में सभी जानकारी होनी चाहिए। अब इस परियोजना को लेकर नाबार्ड द्वारा अधिकृत बैंक में जाओ और लोन के लिए आवेदन करें।

इन कामों के लिए लोन मिलेगा

इस योजना के तहत बैंक आपको डेर प्लांट शेड बनाने के लिए, गाय-भैंस का दूध निकलने की मशीनों के लिए, चारा व कुट्टी काटने की मशीन पर, दुधारू पशुओं की खरीद पर या डेरी के किसी और सामान की खरीद के लिए दिया जाता है। ।

इन बातों का ध्यान रखें

इस योजना के तहत एक आदमी को केवल एक बार ही लोन मिल सकता है। आपके डेरी के 500 मीटर के दायरे में दूसरा डेरी नहीं होना चाहिए।

दान प्लांट शुरू करने और इस पर लोन के लिए ज्यादा जानकारी नाबार्ड की वेबासाइट www.nabard.org से हासिल की जा सकती है।

Ad