पति के प्रति वफादारी से बौखलाए पूर्व प्रेमी ने किए विवाहिता के कई टुकड़े

चुनौती बनी सिर कटी लाश मामले के राजफाश में पुलिस ने सफलता पा ली है। मृतका की अपने पति के प्रति बरती गई वफादारी के लिए उसके प्रेमी ने उसकी नृशंश हत्या की थी। दुष्चक्र में आरोपित के मां-पिता, मामा-मामी समेत आठ लोग शामिल हैं, जिनकी गिरफ्तारी काे दबिश दी जा रही है।

15 नवंबर को कई टुकड़ों में शव मिलने के बाद जांच शुरू हुई तो कंगन, नेल पालिश से क्लू मिलने पर पुलिस ने आरोपित प्रिंस यादव को गिरफ्तार किया तो मर्डर मिस्ट्री खुल गई। प्रिंस ने पुलिस को भी चकमा देकर भागने की कोशिश की तो उसे जवाबी कार्रवाई में गोली से जख्मी होकर अस्पताल में भर्ती होना पड़ गया। एसपी अनुराग आर्य ने पुलिस टीम को 25 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है।

एसपी ने बताया कि इशहाकपुर की आराधना प्रजापति से प्रिंस प्रेम करता था। जबकि मां-पिता ने उसकी बीते फरवरी में शादी कहीं और कर दी थी। प्रिंस शारजाह में काम करता था, लौटने पर उसने आराधना से कहा कि मेरी हो जाओ, लेकिन उसने अनदेखी की।

प्रिंस ने मामा-मामी, ममरे भाई सर्वेश, मां-पिता के साथ मिलकर कुचक्र रचा

जिससे बौखलाए प्रिंस ने मामा-मामी, ममरे भाई सर्वेश, मां-पिता के साथ मिलकर कुचक्र रचा। दस नवंबर को आराधना को मंदिर घूमने के बहाने से उसे बुलाकर प्रिंस ने बुलाया तथा अपने मामा के लड़के सर्वेश यादव संग मिलकर उसकी हत्या कर कई टुकड़े कर डाले। कुछ को बाइक की डिग्गी में रख पश्चिम की पट्टी गौरी का पूरा गांव के निकट एक कुएं में तो सिर को तालाब में फेंक दिया।

हत्या में प्रयुक्त बांका व जींस पैंट कुंए के पास ही गन्ने के खेत में फेंंके और खून लगे कपड़े जलाकर नहर में डाल दिए थे। घटना के बाद मामा रामा यादव, मामी शीला यादव व माता प्रमिला, पिता राजाराम व बहन मंजू को दी। प्रिंस ने गांव वालों को सुनियोजित तरीके से बता दिया था कि मैं जयपुर जा रहा हूं, जिससे किसी को शक न हो। इधर पीड़ित पिता केदार बेटी के लापता होने की खबर थाने में दी थी।

पूर्व में फेंके गए तमंचे से पुलिस पर गोली चला दी, लेकिन मुठभेड़ में घायल हो गया

उन्हें वाकया पता चली तो शव को देख शिनाख्त कर लिए। बताया कि शव से बरामद ऐसा ही कंगन उनकी बिटिया भी पहनी थी। पुलिस छानबीन की तो शक होते ही शनिवार दोपहर प्रिंस काे उठा पूछताछ की तो वह टूट गया। मृतका का कटा सिर व मास्क गन्ने के खेत से बरामद कराते समय पूर्व में फेंके गए तमंचे से पुलिस पर गोली चला दी, लेकिन मुठभेड़ में घायल हो गया। सर्वेश यादव निवासी असरफपुर थाना कप्तानगंज पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। जबकि शेष आठ आरोपितों की गिरफ्तारी में पुलिस जुट गई है।

Ad