पांच साल में 35 बार भागी पत्नी, जानें थाने में हाथ जोड़कर पति कर रहा क्या गुहार

खबर शेयर करें -

एक पति अपनी पत्नी को लेकर पीछे 5 वर्षों से बेहद परेशान हैं. पिछले पांच वर्षों में एक बार नहीं बल्कि 30 से 35 बार उसकी पत्नी उसको छोड़ कर भाग चुकी है, लेकिन इसके बाबजूद उसका अपनी पत्नी को लेकर प्रेम अभी भी कम नहीं हुआ है. वह अपनी पत्नी की हरकतों को लेकर अब लोगों के बीच जा रहा है. पत्नी को तलाशने में मदद की गुहार लगा रहा है. मामला रामगढ़ थाना क्षेत्र के ड़हरक गांव का है. दो छोटे बच्चे के साथ सड़क पर भटक रहा कृष्ण मुरारी गुप्ता अपनी पत्नी की बेवफाई की कहानी सुनाते हुए रामगढ़ थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया है.

30 से 35 बार उसे छोड़कर भाग चुकी है पत्नी

कैमूर के रहनेवाले कृष्ण मुरारी गुप्ता ने थाने में दर्ज बयान में बताया है कि उसकी पत्नी एक बार नहीं, बल्कि 30 से 35 बार उसे छोड़कर भाग चुकी है. वो कहता है कि उसके दो बच्चे हैं. बड़ा लड़का 4 साल का है और बेटी 4 महीने की है. इन दोनों को पालना मुश्किल हो रहा है. पत्नी थी तो नौकरी करता था, अब बच्चे को लेकर कहां काम करने जाउं. भीख मांग कर गुजारा करना पड़ रहा है. अगर मेरी पत्नी वापस नहीं आयी तो मैं आत्महत्या कर लूंगा.

दोनों की 2017 में लव मैरिज से हुई थी

कृष्ण मुरारी गुप्ता और उसकी पत्नी कैमूर जिले के ही रहने वाले हैं. दोनों की 2017 में लव मैरिज से हुई थी. कृष्ण मुरारी गुप्ता जिले के रामगढ़ थाने का निवासी है. वहीं उसकी पत्नी नुआव थाने की निवासी है. कृष्ण मुरारी गुप्ता का कहना है कि शादी के एक साल बाद ही पत्नी घर छोड़कर भाग गई थी. वह कई बार मुझे छोड़ कर घर से जा चुकी है. कई बार तो प्रशासनिक हस्तक्षेप के बाद पत्नी को वापस लाया जा सका था. इस बार उसका कोई पता नहीं चल पा रहा है. वो कहां गयी यह बतानेवाला कोई नहीं है.

गुमशुदगी का पोस्टर लेकर घूम रहा है पति

पत्नी की वेवफाई से पीड़ित एक पति अपने दो मासूम बच्चों के साथ इस कड़ाके की ठंड में दर-दर भटक रहा है. पत्नी की तलाशी के लिए रामगढ़ थाने का चक्कर लगा रहा हैं. अपनी पत्नी की गुमशुदगी का पोस्टर लेकर बच्चों के साथ सड़कों पर घूम रहा है. उनकी पत्नी पिछले कई दिनों से गायब है. मुरारी कहता है कि मेरी पत्नी सात महीने में कई बार भाग चुकी है. दोनों बच्चे मेरे पास हैं. मेरे घर में कोई इन बच्चों को देखने वाला नहीं है. मैं भीख मांगना नहीं चाहता, लेकिन बच्चों के लिए ऐसा करना पड़ रहा है. मेरी पत्नी शादी के बाद से ही मेरे ऊपर कहर बनकर टूट पड़ी है. आज मेरी हालत भिखारी से बदतर हो गयी है. अच्छी खासी नौकरी छोड़नी पड़ी.