बिना लिपिक के ही चल रही है लालकुआं नगर पंचायत

लालकुआं: पिछले कई समय से लालकुआं नगर पंचायत कार्यालय में लिपिक नहीं होने के कारण विकास कार्यों के साथ ही जनता के काम भी प्रभावित हो रहे हैं। फिलहाल नगर पंचायत द्वारा आउटसोर्सिंग से लिए कर्मचारियों व कालाढूंगी के लिपिक द्वारा काम चलाया जा रहा है।
बता दें कि पूर्व में नगर पंचायत में लिपिक के पद पर तीन कर्मचारी तैनात थे। गत वर्ष तीनों कर्मचारी रिटायर हो गए। जिसके बाद से नगर पंचायत बिना लिपिक बाबू के ही कार्य कर रही है। जिससे जहां नगर के विकास कार्य प्रभावित हो रहे हैं वही नगरवासियों की समस्याओं के निस्तारण में भी दिक्कतें आ रहे हैं। हालांकि जरूरी कार्यों को निपटाने के लिए नगर पंचायत ने सप्ताह में तीन दिन के लिए कालाढूंगी से एक लिपिक को अटैच किया है। वही आउटसोर्सिंग के कर्मचारियों से भी लिपिक का कार्य लिया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि नगर के सात वार्डों के विकास कार्यों के साथ ही बिन्दुखत्ता व आसपास के क्षेत्रों के ग्रामीणों के तमाम प्रमाण पत्रों का कार्य भी नगर पंचायत द्वारा ही निपटाया जाता है। ऐसे में नगर पंचायत में लिपिक के नहीं होने से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी राजू नबियाल ने बताया कि लिपिक की तैनाती शासन स्तर से होनी है, जिसके लिए शासन को पत्र भेजा गया है।

लिपिक की तैनाती के लिए शहरी विकास मंत्री से मिल चुका है शिष्टमंडल
लालकुआं। नगर पंचायत के शिष्टमंडल ने पिछले दिनों हल्द्वानी आए शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक से मुलाकात कर नगर पंचायत में लिपिक की तैनाती करने की मांग की है। जिसके बाद शहरी विकास मंत्री ने शिष्टमंडल को जल्द लिपिक की तैनाती का आश्वासन दिया है।

Ad