अल्मोड़ा में दर्दनाक सड़क हादसा, नौ साल की एक मासूम बच्ची के साथ ही उसके माता पिता की मौत

खबर शेयर करें -

अल्मोड़ा : जिले के स्याल्दे विकास खंड में एक दर्दनाक सड़क हादसा हो गया। हादसे में एक कार चचरोटी के पास तीन सौ मीटर गहरी खाई में जा गिरी। जिसमें नौ साल की एक मासूम बच्ची के साथ ही उसके माता पिता की मौत हाे गई है। जबकि मासूम का एक 11 साल का भाई गंभीर रूप से घायल है। जिसे उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

सोमवार को रूड़की में अपना निजी क्लीनिक चलाने वाले डा. मुनेंद्र सिंह (46) पुत्र ईश्वर सिंह निवासी दिल्ली रोड मोहनपुरा, सिविल लाइन, रूड़की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र देघाट में कार्यरत अपनी पत्नी नर्सिंग अधिकारी शशि सैनी (41) को छाेड़ने के लिए अपनी कार संख्या यूके-08-यू-6028 से देघाट की ओर आ रहे थे।

कार में उनका बेटा अर्णव (11) और बेटी अदिति (09) भी उनके साथ सवार थे। शाम करीब पांच बजे के आसपास अचानक स्याल्दे के चचरोटी के पास डा. मुनेंद्र कार से नियंत्रण खो बैठे और कार करीब तीन सौ मीटर गहरी खाई में जा गिरी। हादसा इतने सुनसान इलाके में हुआ था कि किसी को इसका पता नहीं चला। इधर शाम से ही रूड़की में रह रहे परिजन जब मुनेंद्र और शशी का फोन मिलाते रहे तो तीन बजे के बाद कई घंटों तक उनका संपर्क नहीं हो पाया। जिसके बाद शशी सैनी के भाई ने इसकी सूचना अल्मोड़ा पुलिस को दी।

एसएसपी देवेंद्र पींचा ने मामले का संज्ञान लेते हुए तत्काल स्थानीय पुलिस और एसडीआरएफ की टीम को लोकेशन के अनुसार मौके पर भेजा पर सर्च अभियान चलाने के बाद भी किसी का कोई पता नहीं चला। मंगलवार की तड़के तुराचौरा मार्ग पर एक बाइक सवार को अर्णव घायल हालत में मिला।

जिसने बाइक सवार को हादसे की जानकारी दी। बाइक सवार ने तत्काल देघाट सीएचसी में इसकी जानकारी दी। सूचना मिलने के फिर से रेस्क्यू शुरू किया गया और टीम बमुश्किल मौके पर पहुंची। हादसे में मुनेंद्र, उनकी पत्नी शशी और मासूम बेटी अदिति की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो चुकी थी। रेस्क्यू टीम ने शवों को खाई से निकाला और उन्हें पोस्टमार्टम के लिए रानीखेत भेज दिया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हादसे की सूचना परिजनों को दे दी गई है। घायल अर्णव का अस्पताल में उपचार कराया जा रहा है।