हल्द्वानी : कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने उठाए यह बड़े कदम

हल्द्वानी। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन ने कड़ा एक्शन ले लिया है। मंडी समिति में बढ़ती भीड़ को लेकर अब सख्त कदम उठाए जा रहे हैं।
नवीन मंडी में उत्पाद लेकर आने वाले वाहनों को 8 बजे बाद प्रवेश नहीं मिलेगा। यह निर्णय प्रशासन और मंडी समिति अध्किरियों के बीच हुई वार्ता में लिया गया। एसडीएम विवेक राय, एसपी सिटी डा. जगदीश चंद्र ने मंडी
समिति अधिकारियों संग हुई वार्ता के बाद लिया गया। निर्णय लिया गया कि सब्जी आदि सामान लेकर आने वाले वाहनों को आठ बजे बाद नवीन मंडी में
प्रवेश नहीं मिलेगा। इतना ही नहीं सब्जी लेकर बाहरी जिलों को जाने वाले वाहनों को भी नौ बजे तक हर हाल में यहां से अपनी रवानगी करनी होगी। मंडी
में आने वाहन में चालक, परिचालक के साथ एक किसान को प्रवेश दिया जाएगा।
यह भी पढ़ें 👉 राज्य में आज मिले 8390 नए कोरोना संक्रमित
यह कदम मंडी में बढ़ रही भीड़ को देखते हुए उठाया गया है। वाहनों को पूर्वी प्रवेश द्वार से प्रवेश की अनुमति होगी जबकि पश्चिमी गेट से निकासी होगी।
यह नियम व्यापारियों तथा खरीददार दोनों पर लागू होगा। इसके अलावा मंडी में दोपहिया व चैपहिया वाहनों का प्रवेश वर्जित रहेगा। साथ ही मंडी में
फुटकरमें सब्जी बेचने पर भी प्रतिबंध् लगा दिया गया है। अगर कोई भी व्यक्ति फुटकर में सब्जी बेचता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। बैठक में पर्वतीय क्षेत्र हेतु फल-सब्जी
की आपूर्ति हेतु वाहनों की दिन में 12 बजे बाद आपूर्ति सुनिश्चित करने का निर्णय लिया गया। प्रशासन ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण की रोकथाम के लिए
मंडी समिति से इसका प्रचार प्रसार करने को भी कहा है। स्थानीय काश्तकारों
को अपनी उपज को मंडी लाने और ले जाने पर कोई रोक नहीं होगी।

निर्णय लिया गया कि जब तक स्थिति सामान्य नहीं होती है तब तक 50 प्रतिशत व्यापारियों
को व्यापार करने की अनुमति प्रदान की गई है। बैठक में एसडीएम विवेक राय,
एसपी सिटी डा. जगदीश चंद्र, सचिव मण्डी समिति विश्वविजय सिंह देव, चौकी इन्चार्ज दिनेश चन्द्र जोशी, मंडी निरीक्षक गणेश त्रिपाठी, उमेश चन्द्र त्रिपाठी, पंकज वर्मा, पीताम्बर दत्त जोशी, नवीन चन्द्र मठपाल, महेन्द्र
सिंह डंगवाल, त्रिभुवन चन्द्र पाण्डे, त्रिलोक सिंह के अलावा आलू फल आढ़ती एसोसिएशन के अध्यक्ष कैलाश चन्द्र जोशी, जीवन सिंह कार्की, चरणजीत
सिंह, कन्हैयालाल सिंधी, प्रेम मदान आदि व्यापारी मौजूद रहे।

Ad