यहां पर प्रभु श्री राम की लीला का मंचन होता है साहब, इस पवित्र स्थल पर मांस-मच्छी और मदिरा की दावतों पर तुरंत रोक लगाओ, एक ही सुर में बोले हिंदूवादी संगठन के लोग!

Lord Shri Ram's leela is staged here, sir, immediately ban the feasts of meat, fish and liquor at this holy place, said the people of Hindu organization in one voice!

खबर शेयर करें -

 

राजू अनेजा,लालकुआं। नगर के अम्बेडकर पार्क व रामलीला प्रांगण पर आयोजित होने वाले शादी विवाह कार्यक्रमों में प्रतिबंध मीट, मछली,मटन एवं मदिरा की दावत का लालकुआँ क्षेत्र के तमाम समाजिक एवं हिन्दू संगठनों के कार्यकताओं ने आज जबरदस्त विरोध करते जिलाधिकारी के नाम ज्ञापन सौपकर तत्काल प्रतिबंध करने की मांग की है। साथ ही कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही कार्रवाई नही की गई तो समस्त हिन्दूवादी कार्यकर्ता उग्र आन्दोलन को बध्य होगें जिसकी समस्त जिम्मेदारी प्रशासन की होगी।

बताते चले कि लालकुआँ नगर के अम्बेडकर नगर वार्ड नम्बर एक स्थित अम्बेडकर पार्क व रामलीला प्रांगण में आयोजित होने वाले शादी विवाह कार्यक्रमों में प्रतिबंध मीट, मछली, मदिरा की दावत को लेकर चौतरफा विरोध शुरू हो गया है आज लालकुआँ क्षेत्र के तमाम समाजिक एवं हिन्दूवादी संगठनों के कार्यकताओं ने हिन्दूवादी नेता कमल मूनी जोशी के नेतृत्व में तहसील कार्यालय पहुंचकर तहसील के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी विपिन चन्द्र पंत को जिला अधिकारी के नाम ज्ञापन सौंपा।

वही दिए गए ज्ञापन में उन्होंने कहा कि लालकुआँ नगर में एक मात्र बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर जी का पार्क है जिसमें बाबा साहेब की सु़दर मूर्ति स्थापित है। उन्होंने कहा कि उक्त पार्क के प्रांगण में पिछले लम्बे समय से स्थानीय कलाकारों द्वारा सुंदर रामलीला का मंचन किया जा रहा है।

तथा उक्त पार्क के प्रांगण में श्रीभागवत कथा, देवी देवताओं के जागरण,बालाजी के दरबार,हवन यज्ञ आदि धार्मिक कार्यक्रम होते आ रहें हैं। इसके आलावा पार्क में गरीब कन्याओं की शादी विवाह के कार्यक्रम भी आयोजित होते आ रहे है। उन्होंने कहा कि लेकिन कुछ बर्षो से उक्त पवित्र प्रांगण में आयोजित होने वाले शादी समारोहों में प्रतिबंध मीट, मछली, मटन एवं मदिरा की दावतों का आयोजन किया जा रहा है। जिससे हिन्दू धर्म का अपमान हो रहा है।

उन्होंने कहा कि जिस प्रांगण में हिन्दू धर्म से जुड़े विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान किए जा रहे हैं वह मीट ,मछली, मदिरा की दावतों का होना बहुत निदांनिय है जिसका हम पूरजोर विरोध करते हैं। उन्होंने कहा कि हिन्दूधर्म का अपमान किसी भी किमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने प्रशासन से मांग कि है अगर शादी विवाह के लिए उक्त प्रांगण दिया जाता है तो वह शपथ पत्र के साथ दिया जाए ताकि शादी विवाह के कार्यक्रमों में मीट, मटन, मदिरा की दावत ना हो सकें ।
उन्होंने तत्काल रामलीला प्रांगण में मीट, मछली, मटन की दावत पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है।
साथ ही चेतावनी भी दी है कि अगर जल्द ही कार्रवाई नही की गई तो समस्त समाजिक एवं हिन्दूवादी संगठन के कार्यकर्ता उग्र आन्दोलन को बध्य होगें जिसकी समस्त जिम्मेदारी स्थानीय प्रशासन की होगी।
इधर ज्ञापन देने वालों में मुख्य रूप से हिन्दूवादी नेता कमल मूनी जोशी, सुभाष नागर, बिक्रम राणा, शोवित त्यागी, मन्नू गोस्वामी, छात्र सचिन फूलारा,रतनेश सिंह, बलवीर बिष्ट, गुरूदेव र्मोर्य, चन्द्रपाल, गौरव गुप्ता, अरविंद बोद्ध, बंटी सक्सेना, धर्मवीर गौतम, नितिन बोद्ध, अनिता देवी,पूर्व कोषाध्यक्ष कनैहया भट्ट,छात्र नेता अनुज सुयाल,छात्र करन दुम्का, पवन पाडे, राहुल सुठा,अमित सिंह सहित कई लोग मौजूद रहे।