उत्तराखंड : कत्ल या हादसा! दो साल बाद नहर में मिली कार, पिता का कंकाल बरामद; बेटे का शव पहले मिल चुका

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड के ऋषिकेश में दो साल पहले संदिग्ध हालत में लापता हुए पिता और पुत्र की कार नहर से मिल गई है। पुलिस ने कार के अंदर से ही पिता का कंकाल बरामद किया है।

घटना के बाद 3 साल के बेटे का शव पहले ही बरामद किया जा चुका है। जबकि पिता का शव का कंकाल आज सुबह एसडीआरएफ की टीम ने चीला शक्ति नहर से बरामद किया।

टीम को सूचना मिली थी कि नहर में एक कार गिरी हुई है। जांच के बाद पता लगा कि कार दो साल पहले लापता हुए व्यक्ति की है। जिसके साथ बेटा भी था। लेकिन उसका शव घटना के बाद दो साल पहले ही बरामद कर लिया गया था। लेकिन अब ऋषिकेश के अर्चित बंसल (32) का कंकाल और कार पुलिस को मिली है।

बेटे को लेकर लापता हुआ था पिता, नहीं लगा था सुराग

तीन वर्षीय पुत्र राघव बंसल को लेकर पिता घर से लापता हुए थे। तब पिता-पुत्र की तलाश में पुलिस ने अभियान चलाया था। चीला शक्ति नहर से पुत्र राघव का शव बरामद कर लिया था। जबकि कार और पिता अर्चित तब से लापता चल रहे थे। जिसकी तलाश में एसडीआरएफ ने नहर की खाक छानी थी, लेकिन कुछ पता नहीं लग पाया था।

एसडीआरएफ इंचार्ज इंस्पेक्टर कविन्द्र सजवाण ने बताया कि इन दिनों चीला शक्ति नहर का मरम्मत का काम चल रहा है। पानी कम होने के बाद कार का पता लगा। नहर में कार नजर आने के बाद इसके अंदर से कंकाल मिला है। परिजनों की ओर से भी शिनाख्त कर ली गई है। अर्चित जैन ने खुद कार नहर में उतारी या उनका मर्डर कर कार नहर में डाली गई? इसको लेकर पुलिस जांच कर रही है।