तो क्या लालकुआं के गली मोहल्लों में धड़ल्ले से बेची जा रही थी दिनेशपुर में बनी नकली शराब ?,अब अवैध शराब के कारोबारियो पर खाकी की पैनी नजर

So fake liquor made in Dineshpur was being sold indiscriminately in the streets of Lalkuan, now Khaki is keeping a close eye on the illegal liquor traders.

खबर शेयर करें -
राजू अनेजा ,लाल कुआं। सावधान कहीं लाल कुआं क्षेत्र के प्रत्येक  गली नुक्कड़ में आसानी के साथ सस्ते दाम पर मिलने वाली शराब  नकली तो नहीं जी हां बात जरूर चोकाने वाली है विगत दिवस स्थानीय पुलिस एवं आबकारी टीम ने दिनेशपुर क्षेत्र में छापामार कार्रवाई करते हुए विगत एक माह से चल रही नकली शराब की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया जिसमें मौके से लाल कुआं के दो शातिर शराब तस्करों को भी दबोचा है, बताया जा रहा है कि दोनों शातिर अपराधी जो लाल कुआं के वार्ड नंबर 4 के रहने वाले हैं आपस में सगे भाई हैं और लंबे समय से शराब की तस्करी में लिप्त हैं यही नहीं बल्कि दोनों पर नकली शराब बनाने और सप्लाई करने के कई मामले भी दर्ज हैं संयुक्त टीम द्वारा की गई छापेमारी के दौरान बताया गया कि दिनेशपुर में चल रही नकली शराब की फैक्ट्री में  भारी मात्रा में तैयार नकली शराब उधम सिंह नगर से  सटे लाल कुआं और हल्द्वानी आदि क्षेत्रों में खपाया जाता था। सूत्रों की बात की जाए तो पकड़े गए दोनों शराब तस्करों का लाल कुआं में चल रहे अवैध शराब के कारोबार  से गहरा नाता है जिसके चलते लाल कुआं कोतवाली की नाक के नीचे कई गली नुक्कड़ों में इस नकली शराब को आसानी के साथ बेचा जाता था। हैरानी वाली बात है कि अभी तक मित्र पुलिस और आबकारी टीम के हाथ उन शराब तस्करों तक नहीं पहुंचे जिनके इन दोनों भाइयों से गहरे  लिंक है। पकड़ी गई नकली शराब की फैक्ट्री में इतनी भारी मात्रा में नकली शराब का बनाना और आसानी के साथ लाल कुआं क्षेत्र में  खपाना, पुलिस और आबकारी टीम पर कई प्रश्न चिन्ह खड़े कर दिए हैं।
बताते चले कि विगत दिवस उधम सिंह नगर के दिनेशपुर क्षेत्र में 01 माह से चलाई जा रही अवैध शराब फैक्ट्री को पुलिस ने रंगे हाथों पकड़ लिया, इस दौरान, जांच में जानकारी मिली कि लालकुआं क्षेत्र के निवासी दो भाइयों द्वारा तैयार नकली शराब को लाल कुआं और हल्द्वानी क्षेत्र में सप्लाई किया जाता था तथा नकली शराब बनाने के लिए कैमिकल व अन्य रॉ मटेरियल को मुरादबाद उ0प्र0 से सप्लाई कर लाया जाता था।
नकली शराब को बनाने वाले मुख्य अभियुक्त विशाल मण्डल के ऊपर पूर्व में उत्तराखण्ड व आबकारी विभाग में आधा दर्जन मुकदमें दर्ज हैं।वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखंड राज्य में बढ़ते नशे की प्रवृति की रोकथाम हेतु मुख्यमंत्री उत्तराखंड के ‘इग्स-फ्री देवभूमि अभियान के अंतर्गत मेरे द्वारा इग्स व अवैध/नकली शराब के खिलाफ कार्यवाही करने के आदेश पर सीओ एसटीएफ आर बी चमोला के निर्देंशन में एसटीएफ की कुमायूँ टीम द्वारा कल थाना दिनेशपुर जनपद ऊधमसिंह नगर क्षेत्र में एक मकान में छापा मारकर, अन्दर संचालित हो रही नकली शराब बनाने की फैक्ट्री का भण्डाफोड़ करते हुए 02 अभियुक्तों विशाल मण्डल व विकास मण्डल निवासी लालकुआँ को गिरफ्तार करते हुए भारी मात्रा में नकली शराब व नकली शराब बनाने का रॉ मटेरियल व उपकरण बरामद किये।एसएसपी एसटीएफ द्वारा बताया गया कि हमारी टीम को पिछले काफी दिनों से सूचना मिल रही थी कि थाना दिनेशपुर क्षेत्र में कहीं किसी मकान में नकली शराब बनाने की फैक्ट्री संचालित की जा रही है जिस पर एसटीएफ की टीम लगातार कार्य कर रही थी कल टीम को एक गोपनीय सूचना के जरिये उक्त मकान का पता लग गया।
जिस पर टीम द्वारा तुरन्त थाना दिनेशपुर व आबकारी विभाग की टीम को साथ लेकर कार्यवाही करते हुए उक्त मकान को घेरकर रेड की गयी तो मकान के अन्दर 02 व्यक्तियों द्वारा नकली शराब बनायी जा रही थी। जिन्हे तुरन्त मौके पर ही रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। और मकान के अन्दर से भारी मात्रा में बाजपुर गुलाब माल्टा मार्का की तैयार नकली शराब व कैमिकल ,कच्चा माल व नकली शराब बनाने के उपकरण बरामद किये गये।
गिरफ्तार दोनों युवक किराये पर मकान लेकर पिछले 01 महीने से उसमें नकली शराब की फैक्ट्री चला रहे थे जो कि एक रिहायशी इलाका था आस-पास के लोगों को इसकी भनक तक नही थी। तैयार शराब को हल्दवानी क्षेत्र में सप्लाई किया जा रहा था नकली शराब को बनाने के लिए रॉ मटेरियल व उपकरण उ0प्र0 से जिस व्यक्ति द्वारा सप्लाई कराये जा रहे थे उसका भी ठोस सुराग एसटीएफ को मिला है जिस पर आगे कार्यवाही की जायेगी।नकली शराब के सरगना विशाल मण्डल के खिलाफ थाना काठगोदाम, हल्द्वानी , लालकुआँ व आबकारी विभाग में नकली शराब बनाने व तस्करी के कुल 6 मुकदमें दर्ज हैं। फिलहाल टीम द्वारा थाना दिनेशपुर में गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों के विरुद्ध उचित धाराओं में अभियोग पंजीकृत कराया गया है।
एसटीएफ की इस कार्यवाही में मु0 आरक्षी महेन्द्र गिरि व मु0 आरक्षी किशोर कुमार की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
दिनेशपुर में पकड़ी गई नकली शराब की फैक्ट्री का मामला मेरे संज्ञान में नहीं है वही उक्त फैक्ट्री में पकड़े गए दोनों पेशावर शराब तस्कर के किस-किस के साथ लिंक है वह जांच का विषय है। क्षेत्र में अवैध शराब का कारोबार करने वालों पर पुलिस पैनी नजर बनाए हुए हैं जो शीघ्र ही सलाखों के पीछे होंगे।
        पुलिस क्षेत्राधिकारी लाल कुआं संगीता