बर्फबारी को लेकर लेकर अलर्ट, चारधाम समेत हिमालय की चोटियों पर बर्फबारी, उत्तराखंड में मौसम का मिजाज सख्त

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड में आज मौसम शुष्क रहेगा। हरिद्वार तथा ऊधमसिंह नगर जनपदों में उथले से मध्यम कोहरा छाने के आसार हैं।

प्रदेश में मौसम ने शनिवार को फिर करवट बदली और चारधाम, हेमकुंड साहिब, औली समेत हिमालय की चोटियों पर जोरदार बर्फबारी हुई।

भारी बर्फबारी से कई स्थानों पर मार्ग अवरुद्ध हैं।

बर्फबारी व वर्षा से शीत के चपेट में प्रदेश

राज्य में 50 से अधिक गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क कट गया है। चोटियों पर दिनभर रुक-रुककर बर्फबारी का क्रम जारी रहा। निचले क्षेत्रों में वर्षा और ओलावृष्टि हुई। बर्फबारी व वर्षा के बाद समूचा प्रदेश शीत की चपेट में आ गया। अधिकतर क्षेत्रों में तापमान में चार से छह डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई है।

मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के अनुसार, अगले दो दिन प्रदेश में मौसम का मिजाज बदला रह सकता है।

बर्फबारी को लेकर लेकर अलर्ट

उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में तीन हजार से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भारी हिमपात और मैदानी जिलों में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ ओलावृष्टि को लेकर यलो अलर्ट जारी किया गया है।

उत्तराखंड के इन जिलों में आज और कल का तापमान

शहर – अधिकतम – न्यूनतम

देहरादून (04 फरवरी) – 18.0 – 10.0

(05 फरवरी) – 16.0 – 10.0

हरिद्वार (04 फरवरी) – 20.0 – 10.0

(05 फरवरी) – 20.0 – 12.0

कोटद्वार (04 फरवरी) – 20.0 – 10.0

(05 फरवरी) – 19.0 – 12.0 (डिग्री सेल्सियस में)

बर्फबारी के चलते शीतलहर का प्रकोप

चमोली जिले में बीते शनिवार की सुबह से धूप खिली रही। हालांकि दोपहर बाद आसमान में बादल छाए रहे। देर शाम को बदरीनाथ, श्री हेमकुंड साहिब व गौरसों में बर्फबारी हुई जिससे शीतलहर का प्रकोप है।

बदरीनाथ हाइवे हनुमान चट्टी से तीन किमी आगे बीते दिनों हुई बर्फबारी के चलते अवरुद्ध है। वहीं मंडल चोपता मोटर मार्ग पर किलोमीटर 42 से 46 तक बर्फबारी के चलते अवरुद्ध था जिसे साढे चार बजे बर्फ हटाकर यातायात के लिए सुचारु कर दिया गया है ।

मौसम बदलने से कड़ाके की ठंड

औली जोशीमठ मोटर मार्ग कवांड बैंड से आगे बर्फबारी से अवरुद्ध मार्ग भी यातायात के लिए सुचारु कर दिया गया है। जिले में आए दिन मौसम के बदलते मिजाज के चलते कड़ाके की ठंड भी महसूस होने लगी है। लोग अलाव जलाकर ठंड से निजात पा रहे हैं।