उत्तराखंड : मृतक समझकर कर दिया था पिंडदान, तीन दिन बाद जिंदा लौट आया युवक, लोग हुए हैरान

खबर शेयर करें -

उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर से जुड़ी खबर सामने आई है। यहाँ खटीमा से एक अनोखा मामला सामने आया है।

परिजनों ने समझा हो गई मौत

मिली जानकारी के अनुसार धर्मानंद भट्ट का 42 वर्षीय पुत्र नवीन भट्ट जो कि किन्हीं कारणों के चलते परिवार और बच्चों से काफी समय से अलग रहता था। 25 नवंबर को कोतवाली से सूचना मिली कि सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी में बीमारी के चलते नवीन भट्ट की मौत हो गई है। परिवार वालों ने शव की शिनाख्त नवीन भट्ट के रूप में की। 26 नवंबर को शारदा घाट बनबसा में विधि विधान के साथ अज्ञात शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया।

परिवार में खुशी का माहौल

वही 29 नवंबर को रुद्रपुर में होटल चलाने वाले नवीन के भाई केशव दत्त भट्ट को उसके मित्र का फोन आया कि होटल बंद क्यों है। केशव ने बताया कि उसके भाई नवीन की मौत हो गई है। मित्र ने फोन पर बताया कि उसके भाई नवीन को तो उन्होंने अभी देखा है। केशव के मित्र ने नवीन के साथ वीडियो कॉल कराई। वीडियो कॉल में बात होने के बाद परिवार के लोग तत्काल रुद्रपुर रवाना हुए। बुधवार को परिजन रुद्रपुर जाकर उसे घर लेकर आए। अब घर में खुशी का माहौल है‌।