फर्जी राशन कार्ड पाए जाने पर किया जाएगा मुकदमा


हल्द्वानी: खाद्य एवं आपूर्ति विभाग एक बार फिर हरकत में आते हुए फर्जी आय प्रमाण पत्र लगा कर राशन कार्ड बनाने वालों पर नकेल कसने की तैयारी कर चुका है, हल्द्वानी विकासखंड के अंतर्गत आने वाले करीब सवा लाख राशन कार्डो की दोबारा जांच शुरू कर दी गई है, चरणबद्ध तरीके से किए जा रहे इस कार्यवाही में पहले चरण में ब्लॉक के 5 गांव और 5 वार्डों के राशन कार्डों की जांच की जा रही है।
जानकारी देते हुए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने बताया की जांच के लिए ग्राम विकास अधिकारियों, पटवारियों की टीम हल्द्वानी के प्रत्येक वार्ड और गांव में जाकर राशन कार्डो का सत्यापन कर रही है।कार्यवाही के दौरान फर्जी राशन कार्ड पकड़े जाने पर कार्ड निरस्त के साथ ही उस पर मुकदमा भी दर्ज किया जाए जाएगा।
इससे पहले भी खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा की गई कार्यवाही में कई मामले सामने आए थे जिसमें उन लोगों के राशन कार्ड भी बने हुए थे जिनकी सालाना कमाई 5 लाख से अधिक थी, इस तरह के करीब 500 लोगों को नोटिस भी भेजा गया था, बता दें कि पिछले साल जून और जुलाई में ही विभाग ने करीब 1000 से ऊपर राशन कार्ड निरस्त किए थे।
बता दें कि 2014 -15 से पूर्व राशन कार्ड बनाने के लिए आय प्रमाण पत्र की बाध्यता नहीं हुआ करती थी, नगर निगम का अधिकांश हिस्सा ग्रामीण क्षेत्र में आने के कारण राशन कार्ड बनवाने का जिम्मा ग्राम प्रधानों का हुआ करता था ऐसे में प्रधान अपने चहेतों को मन मुताबिक सफेद एवं पीला कार्ड बनवा दिया करते थे और साथ ही मनचाही कमाई भी किया करते थे।

Ad