27 माह, 29 गवाह, 649 सवालों के बाद सुनाई गई प्रेमी युगल को फांसी की सजा

रामपुर: वर्ष 2008 में उत्तर प्रदेश के अमरोहा में हुए प्रेमी युगल द्वारा किए गए सामूहिक हत्याकांड में पूरे देश को हिला कर रख दिया था। हत्याकांड को अंजाम देने वाले प्रेमी युगल को 12 साल बाद फांसी देने की तैयारी शुरू हो गई है।
बता दें कि 14 अप्रैल 2018 को अमरोहा की शबनम ने अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर अपने माता-पिता समेत साथ परिजनों को कुल्हाड़ी से काटकर मौत के घाट उतार दिया था। जिसके बाद पुलिस ने प्रेमी युगल को जेल भेज दिया। न्यायालय में 27 महीने तक सौ तारीखों तक बहस हुई थी। सबनम व सलीम के खिलाफ 29 गवाह पेस किये गए। गवाहों से 649 सवाल किये गये थे। जिसके बाद न्यायालय ने 14 जुलाई 2010 को शबनम और सलीम दोषी करार दिया। जबकि 15 जुलाई 2010 को दोनों को 160 पेज के आदेश में फांसी की सजा सुनाई गई। बहुचर्चित केस की सुनवाई तीन जिला जजों के कार्यकाल में पूरी हुई।

Ad