उत्तराखंड में आज मिले 6251 नए कोरोना संक्रमित

  • उत्तराखंड में आज मिले 6251 नए कोरोना संक्रमित!
  • 174867 पहुंचा आंकड़ा
    मृत्यु–85
  • रिकवरी रेट -68.82%

देहरादून:- देश के साथ ही राज्य में भी कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी के साथ बढ़ रहा है। पिछले कुछ दिनों से उत्तराखंड में कोरोना मामलों में भारी बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। राज्य में मरीजों का आंकड़ा बढ़ने के साथ ही मौत का आंकड़ा भी बढ़ना चिंताजनक बनता जा रहा है।

प्रदेश में आज कोरोना के रिकॉर्ड 6251 नए मामले सामने आए है। इसी के साथ राज्य में कोरोना का आंकड़ा 174867 पहुंच गया है।
इधर आज 3129 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए इस तरह अब तक 120350 मरीज ठीक हो चुके हैं।

गुरुवार की सांय 6:00 बजे स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार राज्य में 6251 नए लोगों में कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई , जिनमें देहरादून जिले से 2207 ,हरिद्वार से 1163, नैनीताल जिले से 673, उधमसिंह नगर से 827 ,पौडी से 253 , टिहरी से 163, चंपावत से 157, पिथौरागढ़ से 33, अल्मोड़ा 198, बागेश्वर से 107 , चमोली से 125 , रुद्रप्रयाग से 150 ,उत्तरकाशी से 195 सैंपल पॉजिटिव मिला हैं।

जबकि राज्य में आज 85 मरीजों की मौत हुई।
जबकि 3129 मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हुए है।

कोरोना से संक्रमित अब तक कुल 174867 मरीजों में से 120350 मरीज ठीक होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो चुके हैं , 3696 संक्रमित राज्य से बाहर जा चुके, हैं ,2502 संक्रमित की मौत हो चुकी है। राज्य में वर्तमान में कोविड-19 के एक्टिव केस 48318 है।

इसे भी पढ़िए

कोरोना संक्रमण के चलते दो संतों का निधन

हरिद्वार। हरिद्वार स्थित पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के पंच परमेश्वर श्रीमहंत मनीष भारती का गुरुवार को एम्स ऋषिकेश में निधन हो गया। श्रीमहंत कोविड संक्रमित थे। उन्हें आठ दिन पूर्व एम्स में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था। अखाड़े के श्रीमहंत रविंद्र पुरी ने की संत के कोविड संक्रमित होने की पुष्टि की है।
इससे पहले पंचायती अखाड़ा श्रीनिरंजनी के श्रवणनाथ मठ के अध्यक्ष और एसएमजेएन पीजी कॉलेज प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्रीमहंत लखन गिरी की एम्स ऋषिकेश में निधन हो गया। श्रीमहंत लखन गिरि कोविड संक्रमित थे और पिछले 10 दिनों से एम्स ऋषिकेश में भर्ती थे।पंचायती अखाड़ा श्रीनिरंजनी के श्रीमहंत लखन गिरि को करीब 20 दिन में पहले बुखार और खांसी की शिकायत के बाद जगजीतपुर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनको एम्स ऋषिकेश भर्ती कराया गया था।

Ad