हल्द्वानी के भागीरथ हत्याकांड का खुलासा, एक हत्यारोपी गिरफ्तार

खबर शेयर करें -

हल्द्वानी: गत 26 मार्च को क्षेत्र के कलावती कालोनी में हुए हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने हत्यारोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जबकि एक हत्यारोपी अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगी हुई है। गत 26 मार्च की देर रात्रि मल्ला गोरखपुर कलावती कॉलोनी निवासी भागीरथ सुयाल की अज्ञात बदमाशों द्वारा पीट पीट कर लहूलुहान कर दिया था । युवक को अस्पताल जे लाया गया जहां उसकी मृत्यु हो गई। जिसके बाद मृतक की पत्नी मीना सुयाल पत्नी स्व0 भगीरथ सुयाल निवासी मल्ला गोरखपुर नवाबी रोड कालावती कालोनी ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। मंगलवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रीति प्रियदर्शनी ने घटना का अनावरण किया। उन्होंने बताया कि युवक की हत्या के बाद पुलिस ने घटनास्थल का मौका मुआयना कर घटनास्थल को सुरक्षित करते हुए घटनास्थल से साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गयी। इस दौरान मौके पर पुलिस को एक लकड़ी फन्टी का डण्डेनुमा टुकड़ा टूटा प्राप्त हुआ। जिस पर खून लगा था। जिसे पुलिस द्वारा कब्जे में लिया गया एवं मौके पर उच्चाधिकारियों के निर्देश पर तत्काल चार टीमों का गठन किया गया। जिन्हें घटनास्थल के आस-पास व शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों की चैकिंग व घटनास्थल के आस-पास पूछताछ व संदिग्धों की पतारसी – सुरागरसी का टास्क दिया गया।

इस दौरान पूछताछ में यह तथ्य प्रकाश में आया कि पवन पाल व राहुल धनेला निवासीगण हल्द्वानी का मृतक भगीरथ के साथ घटना के दिन विवाद हुआ था। जिस पर पुलिस द्वारा इस बिन्दु पर विवेचना करते हुए साक्ष्य जुटाये एवं साक्ष्यों के आधार पर आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु कार्यवाही की गयी। 29 मार्च को अभियोग के विवेचक मनोज रतूड़ी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी व पुलिस टीम द्वारा मुखबीर की सूचना पर भीमताल पुल निकट एचएमटी फैक्ट्री काठगोदाम के पास से अभियोग में संलिप्त अभियुक्त राहुल धनेला उपरोक्त को गिरफ्तार किया गया। पूछताछ में आरोपी ने बताया गया कि घटना के दिन मृतक भगीरथ सुयाल ने मुझसे व मेरे दोस्त पवन पाल के साथ कलावती कालोनी चौराहे पर सबके सामने मारपीट कर दी थी। उस समय हम मौके से भाग गये। जिसके बाद थोडी देर में और पवन एक वजनदार फन्टी लकड़ी का डण्डेनुमा को साथ लेकर पवन की स्कूटी UK04V-7381 से भगीरथ की दुकान पर पहुँचे। घटनास्थल पर पहुँच कर मैंने मृतक के हाथ पक़ड़े और पवन पाल ने भगीरथ के सिर पर फन्टी से कई वार किये और उसके सीने पर कई लातें मारी , मारते – मारते हमारी फन्टी भी टूट गयी। जिसका एक टुकडा मौके पर ही छूट गया। दूसरा टुकड़ा पवन पाल अपने पास ले गया। जो उसने कहीं उसी रात को छुपा दिया था। इसके बाद हम स्कूटी लेकर भाग गये। पवन पाल भवाली से किसी बस के माध्यम से भाग गया और आज मैं उसकी स्कूटी से हल्द्वानी से रूद्रपुर की ओर निकलने की फिराक में था तो पुलिस ने पकड़ लिया । गिफ्तारी अभि0 को मा0न्या0 के समक्ष पेश किया जा रहा है एवं फरार अभि0 पवन पाल की गिरफ्तारी हेतु पुलिस टीमों का गठन कर रवाना किया जा रहा है ।

पुलिस टीम
हल्द्वानी: मनोज रतूड़ी प्रभारी निरीक्षक कोतवाली हल्द्वानी, सुधीर कुमार एसओजी प्रभारी, वरिष्ठ उप निरीक्षक कैलाश सिंह नेगी, मंगल सिंह, उप निरीक्षक दिनेश जोशी, रविन्द्र राणा, मनोज यादव, जितेन्द्र कुमार एसओजी, विरेन्द्र चौहान, इसरार अहमद, इसरार नवी, संतोष कुमार, बंशीधर जोशी, प्रदीप कुमार, रविन्द्र खोलिया, घनश्याम आदि पुलिस कर्मी मौजूद थे।