सरकार को एक करोड़ रुपए के चिकित्सा उपकरण देगी सेंचुरी पेपर मिल

जन सरोकारों के प्रति बिरला समूह ने दिखाई अपनी प्रतिबद्धता

लालकुआं: वैश्विक महामारी के दौर में हर किसी की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। ऐसे में एक बार फिर बिरला समूह ने जन सरोकारों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को दोहराया है। इस बार बिरला समूह की ओर से सेंचरी पल्प एंड पेपर मिल लालकुआं द्वारा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए राज्य सरकार को एक करोड़ रुपये के चिकित्सा उपकरण देने की घोषणा की है।

यह भी पढ़े- उत्तराखंड में बढ़ता ही जा रहा कोरोना संक्रमण का आंकड़ा, गई127 मरीजों की जान

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सरकार के सामने चिकित्सा उपकरणों की कमी एक बड़ी बाधा के रूप में उभर के आई है। चिकित्सा व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत द्वारा उद्योगपतियों से आगे बढ़कर सहयोग करने की अपील की जा रही है। इसी क्रम में गत दिवस मुख्यमंत्री के निर्देश पर कोरोना संक्रमण को रोकने संबंधी कार्यों के लिए नोडल अधिकारी बनाए गए आईएएस डॉ0 नीरज खैरवाल ने बिड़ला समूह के अधिकारियों से भी वार्ता की। जिसके बाद बिरला समूह को ओर से नैनीताल जनपद के लालकुआ स्थित सेंचुरी पेपर मिल के सीईओ जेपी नारायण ने नोडल अधिकारी डॉ नीरज खैरवाल को सीएसआर फंड से एक करोड़ रुपए के चिकित्सा उपकरण देने की हामी भर दी है। जिसमे उन्होंने कहा कि सरकार अपनी जरूरत के हिसाब से चिकित्सा उपकरण खरीद सकती है। मिल द्वारा उसका भुकतान कर दिया जाएगा। मिल द्वारा किये जा रहे इस कार्य की हर कोई सराहना कर रहा है।

पहले भी दिए है 20 बेड व 10 ऑक्सीजन सिलेंडर
लालकुआं: कोरोना मरीजों के लिए अस्पतालों में बेड की कमी को देखते हुए सेंचुरी पेपर मिल द्वारा एक सप्ताह पूर्व कुमाऊं के सबसे बड़े अस्पताल डॉक्टर सुशीला तिवारी चिकित्सालय में 20 बेड भी दिए हैं। इसके अलावा उन्होंने उप जिलाधिकारी के आग्रह पर 10 ऑक्सीजन सिलेंडर भी दिए गए। मिल प्रबंधन ने भरोसा दिया है कि वह कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए शासन प्रशासन के साथ है।

वर्तमान समय में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए सामूहिक प्रयासों की जरूरत है। मिल द्वारा नोडल अधिकारी डॉ नीरज खैरवाल को एक करोड़ रुपये के चिकित्सा उपकरण देने की स्वीकृति दे दी गई है।
जेपी नारायण, सीईओ, सेंचुरी पेपर मिल

Ad