नशे के 20 इंजेक्शनों के साथ बस कंडक्टर सहित दो आरोपी गिरफ्तार, यूपी रोडवेज की बस से उत्तराखंड में हो रही थी तस्करी

खबर शेयर करें -

उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की बसों से नशे की जमकर तस्करी की जा रही है। पुलिस ने इस बात का खुलासा करते हुए नशे के 20 इंजेक्शनों के साथ बस कंडक्टर सहित दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

कंडक्टर बहेड़ी के समीप रिच्छा के रहने वाले आरिफ द्वारा भेजे गए नशे के इंजेक्शनों की सप्लाई करता था।

आरोपियों को कोर्ट में पेशी के बाद जेल भेज दिया गया है। रोडवेज बस को सीज कर दिया है। एसओ नीरज भाकुनी ने बताया कि बीते शनिवार की रात पुलिस टीम ने गश्त के दौरान वन विभाग के बैरियर से एक युवक को संदिग्ध हालात में घूमते हुए पकड़ा। तलाशी में उसके कब्जे से नशे के 20 इंजेक्शन बरामद हुए।

पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम दानिश उर्फ मन्नू (19) निवासी काबुल का बगीचा वनभूलपुरा बताया। आरोपी ने बताया कि वह नशे के इंजेक्शन जुनैद उर्फ गप्पू उर्फ टप्पू निवासी हिमालया स्कूल के पास गौजाजाली के कहने पर यूपी रोडवेज बस के एक कंडक्टर से लाया है।

इसके बाद पुलिस ने उत्तर प्रदेश बरेली डिपो की बस के परिचालक रंजीत कुमार (27) निवासी शहादत नगर बरेली यूपी को भी गिरफ्तार कर लिया। बस को सीज कर दिया गया। पुलिस के अनुसार जुनैद समेत एक अन्य को वांछित किया गया है। जल्द उनकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी।

नशा करने वालों से ही करा रहे सप्लाई
पुलिस के अनुसार जुनैद नशे के आदी युवाओं से पैडलर के रूप में काम में लेता है। जुनैद कालाढूंगी में चोरी के आरोप में जेल जा चुका है। इसके अलावा भी उसके खिलाफ मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस से बचने के लिए वह युवाओं का सहारा लेता है।

व्हाट्सएप कॉलिंग से होती है डील
पुलिस के अनुसार जुनैद हल्द्वानी से रिच्छा निवासी आरिफ से व्हाट्सएप के माध्यम से नशे के इंजेक्शनों की डील करता था। इसके बाद उसे पेमेंट कर देता था। आरिफ नशे के इंजेक्शनों को अच्छे से पैक कर रोडवेज बस के कंडक्टर को दे जाता था। कंडक्टर भी पैसों के लालच में रोज सप्लाई करने लगा था।

रिच्छा निवासी आरिफ है मुख्य सप्लायर

एसओ भाकुनी के अनुसार कंडक्टर रंजीत ने बताया कि उसे नशे के इंजेक्शनों का पार्सल रिच्छा निवासी आरिफ देकर जाता था। जिसे हल्द्वानी स्टेशन पर अलग-अलग युवक लेने आते थे। वहीं दानिश ने बताया कि गौजाजाली निवासी जुनैद ने उसे अपना फोन दिया था। उससे कहा था कि इस नम्बर पर किसी का फोन आएगा, उससे जाकर सामान ले आना। इसके बदले वह उसे नशे का इंजेक्शन और कुछ पैसे देता था।